तेरू बुबा बदलिगे,सरकारी जवैं और अब करी न चिड़कु चस गीतों से कमल धनाई ने मचाई धूम।

0
663
तेरू बुबा बदलिगे,सरकारी जवैं और अब करी न चिड़कु चस गीतों से कमल धनाई ने मचाई धूम।

उत्तराखंड संगीत जगत में युवा गायक कमल धनाई ने तेरू बुबा बदलिगे गीत से धमाकेदार एंट्री के बाद सरकारी जबैं और अब नया गीत करी न चिड़कू चस से यूट्यूब पर धमाल मचा रहे हैं. एक के बाद एक गीत दर्शकों के लिए मनोरंजन का पिटारा लेकर आएं हैं. 

यह भी पढे़ं: वेब सीरीज की शूटिंग के लिए नैनीताल पहुंचे बॉलीवुड एक्टर रोनित रॉय और ऋचा चड्ढा, पढे़ं रिपोर्ट।

कमल धनाई ऐसे सिंगर हैं जिन्होंने तेरू बुबा बदिलगे गीत से कम समय में दर्शकों को झूमने पर मजबूर कर दिया है. कमल यहीं नहीं रूके इसके बाद वह सरकारी जवैं और अब करी न चिड़कू चस डीजे गीतों से यूट्यूब पर भौकाल मचा रखा है. दर्शक इनके गीतों को खूब पसंद कर रहे हैं. वह अपने अलग तरह के गीतों के लिए दर्शकों के बीच काफी लोकप्रिय हैं.

यह भी पढ़ें: गढ़वाली गीत छलपट्टी के ऑडियो फॉर्मेट के बाद अब वीडियो भी मचा रहा धूम, दर्शकों ने की सराहना।

हाल ही में नया डीजे गीत करी न चिड़कू चस को कमल धनाई और मीना पंवार ने आवाज दी है. और इसकी रचना कमल धनाई ने की है. संगीत से दिवान सिंह पंवार ने की है. संपादन का काम हार्दिक फिल्म्स स्टूडियो में किया गया है. साथ ही इस गीत का ऑडियो फार्मेट में हार्दिक फिल्म्स के बैनर तले रिलीज किया गया है. जस पंवार इसके निर्माता हैं.

यह भी पढ़ें: सुरलहर यूट्यूब चैनल के गढ़वाली गीत कालू तिल के पोस्टर का अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल ने किया विमोचन।

इस गीत की लोकप्रियता, सफलता के बाद कमल नया सरकारी जवैं डीजे सॉन्ग लेकर आए हैं. इस गीत को गायक कमल धनाई और गायिका वंदना रावत ने आवाज दी है. सरकारी जवैं सान्ग को संगीत से ज्योति प्रकाश रावत ने सजाया है. जितना खूबसूरत ये गीत है उतना बहतरीन संगीत दिया है.वीडियो का फिल्मांकन और संपादन का काम विकास उनियाल ने किया है. जगदीश जोशी इसके निर्माता हैं. बता दें कि ये गीत प्रेम प्रसंग पर आधारित है. जवैं का अर्थ होता है दामाद, आज के समय में लड़की के माता-पिता सरकारी नौकरी वाले लड़के को अपना दामाद बनाना चाहते हैं. अगर आपने यह सॉन्ग नहीं सुना है तो यहां सुन सकते हैं.

यह भी पढे़ं:उत्तराखंड की परंपराओं को दर्शाता वीडियो गीत ढोल दमौं हुआ रिलीज, दर्शकों की मिली जबरदस्त प्रतिक्रियाएं।

यह भी पढ़ें:  राज्य के कलाकारों और साहित्यकारों को दी जाएगी मासिक पेंशन, 25 जनवरी तक करें आवेदन।

उत्तराखंड फिल्म एवं संगीत जगत की सभी ख़बरों को विस्तार से देखने के लिए हिलीवुड न्यूज़ से यूट्यूब पर जुड़ें। 

Facebook Comments