युवा गायक अनिल अन्नू अपनी लेखनी एवं गायन से जीत रहे दर्शकों का दिल,सुरमा उलारया गीत हुआ रिलीज़ !

1
468

उत्तराखंड संगीत जगत में इन दिनों युवा कलाकारों का बोलबाला चल रहा है,गायन के साथ ही लेखनी से भी युवा गायक दर्शकों को प्रभावित कर रहे हैं,युवा गायक अनिल अन्नू कई गीतों को आवाज दे चुके हैं और इनकी ख़ास बात ये है अपने गीतों की रचना अनिल स्वयं ही करते हैं जो दर्शकों को बहुत पसंद भी आते हैं।

young-singer-anil-annu-winning-the-hearts-of-the-audience-with-his-writing-and-singing-released-the-song-surma-ularaya

उत्तराखंड के संगीत को यहाँ के युवा नए स्तर पर ले जाने में कार्यरत हैं,एक और जहाँ कुछ युवा जल्दी लोकप्रियता में विश्वास करते हैं,दूसरे गायकों के गीतों को अपना बताकर खुद को लोकगायक कहते हैं वहीँ अनिल अन्नू जैसे युवा गायक स्वयं की रचनाओं एवं मेहनत से नाम कमा रहे हैं।

यह भी पढ़ें:  मिलन आज़ाद के गीतों का अलग ही अंदाज! अब गिंजा बुतडी ही देख लीजिए !

टिहरी गढ़वाल के अंतर्गत नैलचामी पट्टी के ठेला गाँव निवासी अब तक कई गढ़वाली गीतों को आवाज दे चुके हैं,हाल ही में अनिल अन्नू और प्रीती चमोला की स्वरों से सजा सुरमा उलारया गीत रिलीज़ हुआ है,इसे संगीत से संजय राणा ने सजाया है

यह भी पढ़ें: विरेंद्र सिंह पंवार के गीत मेरी बिशीला की वीडियो रिलीज़ ! डीजे पर धूम मचाता है ये गीत !

अनिल अन्नू ने इस गीत की रचना की है और उत्तराखंडी संगीत जगत को अपने गीतों से बढ़ावा देने में प्रयासरत हैं, युवा पीढ़ी के अपनी लोकसंस्कृति के प्रति समर्पण को देखकर सुखद अनुभूति होती है,क्योंकि लोकसंस्कृति का भविष्य इन्हीं के हाथों में है इसे संवारना आज की पीढ़ी का दायित्व बनता है,तभी आने वाली पीढ़ी इसमें रूचि दिखाएगी।

यह भी पढ़ें: कुमाउनी गायिका मेहना चन्द्रा ने गाया लोकप्रिय शिव शक्ति उत्सव ‘गमरा’ पर गीत! लोकगीत गमरा को जानने के लिए पढ़ें रिपोर्ट !

अंग्रेजी भाषा के बढ़ते चलन एवं मॉडर्न होते समाज में लोकसंस्कृति का ध्यान रखना बेहद मुश्किल है,अभिभावकों का भी कर्तव्य बनता है कि अपने नौनिहालों को जरूर उच्च शिक्षा दें उनका भविष्य बेहतर बनाएं लेकिन अपनी जड़ों से जोड़े रखें। देवभूमि का महत्त्व उन्हें बताएं तभी पलायन जैसी समस्याओं से मुक्ति मिलेगी और सबके प्रयासों से उत्तराखंड विश्व में अपनी अलग पहचान बनाएगा।

यह भी पढ़ें: मेरी सुपर ब्वै वेबसीरीज का टीजर रिलीज़ !थिएटर कलाकरों के अभिनय का दम देखेंगे दर्शक !l

अनिल  अन्नु के साथ इस गीत में प्रीती चमोला ने आवाज दी है,जितनी खूबसूरती एवं ठेठ पहाड़ी शब्दों से इस गीत की रचना हुई है दोनों ही गायकों ने उतने ही शानदार अंदाज में इसे गाया भी है।संजय राणा के संगीत ने तो उत्तराखंडियों को वर्षों से झुमाया ही है इस गीत को भी उतना ही मधुर संगीत भी दिया है।इसे Kanha Music Films ने रिलीज़ किया है।

यह भी पढ़ें: विनोद बगियाल ने टिकटोक बैन होने पर गाया गीत ,टिकटोक चाइना चलीगे ! तेजी से हो रहा वायरल!

हिलीवुड न्यूज़ से यूट्यूब पर जुड़ने के लिए सब्सक्राइब जरूर करें और उत्तराखंडी संगीत को नया आयाम देने में एक भूमिका अपनी अवश्य निभाएं,हम तो समर्पित हैं ही आपका सहयोग ही हमें बेहतर कार्य करने की प्रेरणा देता है। 

 

Facebook Comments