अंकिता को इंसाफ दिलाने के लिए महिलाओं ने मुंडवाये सर, सरकार पर लगाए आरोप

0
191
अंकिता को इंसाफ दिलाने के लिए महिलाओं ने मुंडवाये सर, सरकार पर लगाए आरोप

18 सितंबर 2022 को हुए अंकिता भंडारी हत्याकांड जिसने पूरे उत्तराखंड की आंखों में वो आंसों दिए जो आज भी बह रहे हैं, लेकिन धामी सरकार आज भी आंख बंद कर बैठी हुई है, जिसके बाद अब अंकिता को इंसाफ दिलाने के खातिर महिलाओं ने वो रूप ले लिया है, जो उत्तराखंड को शर्मशार कर रहा है.

यह भी पढ़ें:  अक्टूबर में उत्तराखंड आएंगे पीएम मोदी, तैयारियों में जुटा शासन-प्रशासन

उत्तराखंड के बहुचर्चित अंकिता भंडारी हत्याकांड में सरकार द्वारा कोई न्याय ना दिलाने के विरोध में कांग्रेस मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष ज्योति रौतेला वा अन्य महिला कार्यकर्ता ने सीएम आवाज की ओर कूच के दौरान अपने सिर मुंडवा लिए, उन्होंने कहा कि सरकार अंकिता के हत्यारो को बचाना चाहती है, अंकिता भंडारी हत्याकांड को एक साल हो चुका है लेकिन सरकार कोई कार्रवाई नहीं कर रही है ऐसे में उनकी ओर से यह एक श्रद्धांजलि दी गई, बता दें जुलूस का नेतृत्व कर रही रौतेला तथा अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने पहले ही हाथीबड़कला चौक पर अवरोधक लगाकर रोक लिया और मुख्यमंत्री आवास की ओर नहीं बढ़ने दिया.

यह भी पढें: उत्तराखंड के बेरोजगारों के लिए सरकारी नौकरी का मौका, ऐसे करें आवेदन

ज्योति रौतेला ने मांग की है कि सरकार अंकित भंडारी हत्याकांड मामले में वीआईपी का नाम उजागर करे जिसका मोबाइल चैट में जिक्र हुआ है, साथ ही चेतावनी देते हुए कहा है कि यदि सरकार जल्द ही इस मामले में अंकिता भंडारी को न्याय नहीं देती तो जिला स्तर पर भी विरोध प्रदर्शन किए जाएंगे.

उत्तराखंड फिल्म एवं संगीत जगत की सभी ख़बरों को विस्तार से देखने के लिए हिलीवुड न्यूज़ को यूट्यूब पर सब्सक्राइब करें।