क्या सच में तम्बाकू मुक्त हो पायेगा उत्तराखंड, तम्बाकू पर लगा प्रतिबंधित

0
677

tobacco

उत्तराखंड देवभूमि जहां पर हमेशा देश का नाम बढ़ाने वाले हुनरबाज़हुए हुए है। उत्तराखंड जिसका नाम पूरी दुनिया भर में फेमस है लेकिन कुछ समय से नशे की लत ने उत्तराखंड को धीरे धीरे बर्बाद कर दिया है। आजकल छोटे बच्चो से लेकर हर उम्र का युवा नशे में लीन रहता है। इस नशे के खिलाफ उत्तराखंड सरकार ने एक अहम कदम उठाया है। सरकार ने प्रदेश में तम्बाकू को प्रतिबंधित कर दिया है।

tobacco

लोकसंगीत के लिए लोकगायिका बसंती बिष्ट को दिया जायेगा मानद उपाधि सम्मान

उत्तराखंड सरकार ने तंबाकू तथा निकोटीन युक्त गुटखा और पान मसाला जैसे खाद्य पदार्थों के निर्माण, भंडारण, वितरण एवं बिक्री पर तत्काल प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया है। उत्तराखंड खाद्य सुरक्षा आयुक्त नितेश कुमार झा द्वारा यहां जारी आदेश में कहा गया है कि जन स्वास्थ्य के मद्देनजर तंबाकू तथा निकोटीन युक्त गुटखा, पान मसाला तथा अन्य किसी भी नाम से बिकने वाले ऐसे खाद्य पदार्थों के निर्माण, भंडारण, वितरण एवं बिक्री को आदेश के जारी होने से एक साल तक की अवधि के लिये प्रतिबंधित कर दिया गया है।

फेल नहीं हुई वैज्ञानिको की मेहनत, करवाचौथ पर दिखी चंद्रयान 2 की तस्वीरें

आदेश में कहा गया है कि भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण द्वारा किसी खाद्य उत्पाद में संघटकों के रूप में तंबाकू और निकोटीन का उपयोग प्रतिबंधित है लेकिन गुटखा और पान मसाला जैसे खाद्य उत्पादों में निकोटीन और तंबाकू का उपयोग संघटकों के रूप में किया जा रहा है। खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के तहत राज्य खाद्य सुरक्षा आयुक्त जन स्वास्थ्य के मद्देनजर एक वर्ष के लिये तंबाकू और निकोटीन युक्त किसी भी खाद्य पदार्थ के निर्माण, भंडारण, वितरण और बिक्री को पूरे राज्य में प्रतिबंधित कर सकता है और गुटखा और पान मसालों में इन संघटकों के बहुत ज्यादा इस्तेमाल किये जाने के मददेनजर इन्हें संपूर्ण प्रदेश में प्रतिबंधित कर दिया गया है ।

कई प्रधान जीतने के बावजूद कुर्सी नहीं संभाल पायेंगे, चुनावी माहौल ने दिलाई इस गढ़वाली गीत की याद, पढ़े पूरी खबर

Facebook Comments