अभिनेता हेमंत पांडे का जॉलीग्रांट एयरपोर्ट से वीडियो वायरल !सीएम उत्तराखंड से साफ झलकी नाराजगी !

0
652
video-from-actor-hemant-pandeys-jolly-grant-airport-goes-viral-clear-resentment-for-cm-uttarakhand
Hemant pandey viral video jollygrant airport dehradun
बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता हेमंत पांडे का हाल ही में एक वीडियो काफी सुर्ख़ियों में बना हुआ है,वीडियो जॉलीग्रांट एयरपोर्ट का है जिसमें हेमंत सीएम उत्तराखंड से अपनी नाराजगी का कड़ा इजहार कर रहे हैं। 
video-from-actor-hemant-pandeys-jolly-grant-airport-goes-viral-clear-resentment-for-cm-uttarakhand
Hemant pandey viral video jollygrant airport dehradun
अभिनेता हेमंत पांडे  बीते दिनों जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पर थे जहाँ से उन्होंने फेसबुक लाइव के माध्यम से उत्तराखंड सरकार के मुखिया त्रिवेंद्र सिंह रावत पर उनकी कार्यप्रणाली को लेकर कई सवाल खड़े कर दिए,दरअसल मामला था एयरपोर्ट पर हो रहे वेवजह की कागजी कार्यवाही जिसको लेकर हेमंत पांडे रोष में नजर आए। वीडियो में हेमंत पांडे ने सीएम त्रिवेंद्र से हमें अपनी जिंदगी जीने दो जैसे शब्दों का उपयोग किया जिससे सियासी माहौल थोड़ा गर्म हो गया है,अभिनेता हेमंत पाण्डे एक चर्चित हस्ती हैं उनका इस तरह का वीडियो वायरल होना सीएम की कार्यशैली पर सीधा निशाना है।
कोरोना काल में सरकार द्वारा दिए गए सभी दिशा निर्देशों का पालन करना जनता का कर्तव्य है लेकिन हेमंत पाण्डे के वीडियो ने माहौल में गर्माहट लाने का कार्य किया है,अनलॉक के बाद सभी सेवाओं को विधिवत खोला गया है,लेकिन जरुरी कार्यवाही को अब भी लेट लतीफ़ तरीके से किया जा रहा है,उत्तराखंड आ रहे पर्यटकों की परेशानियों को लेकर हेमंत पाण्डे ने ये वीडियो पोस्ट किया है जिसमें उन्होंने लिखा है:
‘मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी कृपया उत्तराखंड आने वाले लोगों को बहुत परेशानी हो रही है इस पर आप पुनर्विचार करके अपनी कमेटी के साथ कुछ नया निर्णय लें धन्यवाद ,देश के अन्य राज्यों की सरकारों ने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के अत्याचार से अपनी जनता को मुक्त कर दिया है , उत्तराखंड के सभी सांसदों से निवेदन है कि कृपया इस पर आप भी अपने सक्रिय और बेहतर सांसद होने का परिचय दें , पूरे देश से पर्यटक उत्तराखंड आ रहे हैं , इनके आने से सरकार का भला तो होगा ही , उत्तराखंड मै रोजगार भी बढ़ेगा ,जय उत्तराखंड जय देव भूमि’
वीडियो यहाँ देखें :
उत्तराखंड सरकार ने अभी तक इस मामले में कोई टिप्पणी नहीं की है,लेकिन यात्रियों के साथ ऐसा व्यवहार उत्तराखंड के पर्यटन के दृष्टि कोण से न्यायसंगत नहीं है।