वेडिंग डेस्टिनेशन के रूप में नई पहचान बनाएगा उत्तराखंड

0
90
चारधाम के अलावा उत्तराखंड का नैसर्गिक सौंदर्य हमेशा से देश-दुनिया के लोगों को आकर्षित करता रहा है। अब वेडिंग डेस्टिनेशन के रूप में भी प्रदेश खास पहचान बनाएगा। उत्तराखंड ग्लोबल समिट के उद्घाटन सत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से शादियों के लिए विदेश जाने के बजाय उत्तराखंड आने का आह्वान किया है।

 

यह भी पढ़ें: देश के टॉप यू-ट्यूबर की लिस्ट में शामिल हुए उत्तराखंड के सौरव जोशी

प्रधानमंत्री के इस आह्वान से राज्य में पर्यटन कारोबार से जुड़े लोगों की उम्मीदों को नए पंख लगेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा, उत्तराखंड में विकास और विरासत दोनों पर काम होना चाहिए। विरासत से उन्होंने वेडिंग डेस्टिनेशन की ओर इशारा किया। ज्ञात हो कि रुद्रप्रयाग के त्रियुगीनारायण में शिव-पार्वती की विवाह स्थली है, जहां मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, आईएएस अधिकारी ललित मोहन रयाल, अभिनेत्री कविता कौशिक (चंद्रमुखी चौटाला) सहित कई हस्तियां विवाह बंधन में बंध चुके हैं।
गढ़वाल के अलावा कुमाऊं में भी जागेश्वर धाम, रामनगर, भीमताल, पिथौरागढ़, कौसानी जैसे स्थानों पर भी वेडिंग डेस्टिनेशन की संभावनाएं हैं।  इसके अलावा ऊखीमठ में अनिरुद्ध और ऊषा का विवाह स्थल भी है, लेकिन प्रचार-प्रसार के अभाव में यह देश-दुनिया से अछूता है। उत्तराखंड ग्लोबल समिट में उत्तराखंड को वेडिंग डेस्टिनेशन बनाने के आह्वान से होटल व्यावसायियों में खुशी की लहर है।

उत्तराखंड फिल्म एवं संगीत जगत की सभी ख़बरों को विस्तार से देखने के लिए हिलीवुड न्यूज़ को यूट्यूब पर सब्सक्राइब करें।