Breaking News

मसूरी फिल्म काॅनक्लेव पर उत्तराखण्ड के फिल्मी दिग्गजों ने उठाई ऑर्गनाइज़र पर उंगली

Mussoorie Film Conclave

मसूरी फिल्म काॅनक्लेव में सरकार द्वारा कई फिल्म निर्माताओं को अनुदान दिया गया जो कि उत्तराखण्ड फिल्म जगत के लिए एक स्वर्णिम पल है लेकिन इसके बावजूद उत्तराखण्ड के तमाम फिल्मी दिग्गजों ने इस काॅनक्लेव के उत्तराखण्ड पर सवाल उठाये हैं कि उत्तराखण्ड फिल्म जगत से जुड़े तमाम हस्तियों को फिल्म काॅनक्लेव में बुलाकर भी वापिस भेजा गया।
उत्तराखण्ड फिल्म जगत आज भी कहीं जिन्दा है तो वो उत्तराखण्ड के उन तमाम निर्माता निर्देशक एवं कलाकारों की वजह से है जिन्होंने अपना सारा समय और पैसा फिल्म जगत पर लुटा दिया और खुद बर्बादी की कगार पर खड़े हैं और जब इस तरह से फिल्म काॅनक्लेव उन्हीें के संघर्षो की वजह से होता है और ऐसे मौके पर उनको सम्मान न मिले और बेइज्जत कर दिया जाये तो खून तो किसी का भी खौल जाये।

Mussoorie Film Conclave

देहरादून में दिखी प्लास्टिक के विरुद्ध लाखो की मानव श्रृंखला, आमजनता को करना पड़ा जाम का सामना

उत्तराखण्ड सरकार की यह पहल सराहनीय है लेकिन वह भी उत्तराखण्ड के उन तमाम फिल्म जगत से जुड़े लोगों के संघर्ष की वजह से ही हो पाया है जिन्होंने अपना जीवन उत्तराखण्ड फिल्म इंडस्ट्री की सेवा में ही बिता दिया है, अब बात आती है फिल्म काॅनक्लेव जैसे इंवेंट को करने की तो इसमें एक न्यूज चैनल को पार्टनर बनाया गया था जिसे कि उत्तराखण्ड के तमाम फिल्मी दिग्गज इस इवेंट का कर्ता-धर्ता और ऑर्गनाइज़र बता रहे हैं। सरकार (सूचना विभाग) ने इस इवेंट के लिए कोई निविदा भी प्रकाशित नहीं की थी, खबर है कि इस इवेंट के लिए सरकार द्वारा डेढ़ करोड़ में सौदा किया गया था लेकिन अफसोस इस बात का है कि जिस तथाकथित ऑर्गनाइज़र को इस इंवेट का जिम्मा सौंपा गया था उसे फिल्म इंडस्ट्री के बारे में कुछ पता ही नहीं है।

Mussoorie Film Conclave

बिग बाॅस के इस कंटेस्टेंट के साथ डेट कर चुकी हैं काॅंटा लगा गर्ल ‘सैफाली जरीवाला’

हिलीवुड न्यूज हमेशा उत्तराखण्ड के कलाकारों और फिल्म जगत से जुड़े लोगों का अहम माध्यम रहा है। हमने जब इस इवेंट की पड़ताल की और उन तमाम लोगों से बात की जिन उत्तराखण्डी सिनेमा के दिग्गजों को इस इंवेट में बुलाकर न तो बोलने का मौका दिया गया और न ही लोगों को इवेंट तक पंहुचने दिया गया। ऑर्गनाइज़र ने दिल्ली से भी कई उत्तराखण्ड के फिल्म निर्माता व निर्देशकों को बुलाया था लेकिन उन्हें भी इवेंट में शामिल होने से पहले ही दिल्ली वापिस निकलना पड़ा।

बिग बॉस के शो के प्रसारण पर रोक लगाने की अपील, भड़के स्वामी कैलाशानंद ब्रह्मचारी

इस बावत हमने प्रसिद्ध लेखक व निर्देशक अनुज जोशी से बात की उन्होंने हमें दूरभाष पर बताया कि ‘‘सरकार का यह कदम काबिलेतारिफ है लेकिन यह इवेंट जिसे दिया गया था मैं उसकी घोर निन्दा करता हॅू। हमें समारोह में बेइज्जत किया गया, क्या उनको पता ही नहीं है कि उत्तराखण्ड के फिल्म जगत के कौन से चेहरे हैं जिन्होंने फिल्म जगत को बचा कर रखा है। मुम्बई वालों को जो सम्मान दिया गया वो उत्तराखण्ड के लोगों को नहीं दिया गया, मैनें हिन्दी सिनेमा का स्वर्णीम कैरियर छोड़ उत्तराखण्ड फिल्म जगत के लिए कई वर्षो से संघर्षरत हूॅ’’।

प्लास्टिक से दूर अपनाये पारम्परिक मालू से बने पत्तल (बर्तन)

वहीं हमने उत्तराखण्ड व साउथ एशिया की प्रथम महिला निर्देशक सुशिला रावत से जब इस बावत बात की तो उन्होंने बताया कि ‘‘ऑर्गनाइज़र ने (न्यूज चैनल) ने पिछले कई दिनों से काॅल व मैसेज भेजकर हमें काॅनक्लेव के लिए इन्वीटेशन भेजा था। हम पूरी रात सफर में दिल्ली से देहरादून पंहुचे, हमें कोई रहने के लिए कोई होटल नहीं चाहिए था हमें सिर्फ थोड़ी देर रूकने के लिए स्पेस तक मुहैया नहीं किया गया और साथ ही हमसे वहां पर बुरा बर्ताव किया गया, और यहां तक उन्होंने हमें यह तक कहा कि आप लोगों को आने से पहले हमें बताना चाहिए था कि आप कौन हो, जिस कारण हमें काॅनक्लेव छोड़कर वापिस आना पड़ा’’।

लोक कलाकारों के मानदेय को लेकर सरकार में हल चल शुरू – दो गुना करने की हो रही सिफारिश

इसके साथ ही उत्तराखण्ड के तमाम फिल्मी दिग्गजों ने इस इवेंट के ऑर्गनाइज़र पर गंभीर सवाल उठाये और सरकार से अगली बार ऐसे इवेंट किसी उत्तराखण्ड फिल्म इंडस्ट्री से जुड़ी इवेंट कम्पनी से करवाने की बात कही क्योंकि एक न्यूज चैनल कब से इस तरह के इवेंट करने लगा, अपने आप में एक बड़ा सवाल है।

Facebook Comments

About Hillywood Desk

Check Also

रूट रंग रूट गढ़वाली गीत सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर मचा रहा बवाल,यूट्यूब पर कर रहा ट्रेंड।

रूट रंग रूट गढ़वाली गीत सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर मचा रहा बवाल,यूट्यूब पर कर रहा ट्रेंड।

उत्तराखंड के संगीत जगत का सुपरहिट गीत रूट रंग रूट ने सोशल मीडिया के प्लेटफार्म …

%d bloggers like this: