उफ़तारा ने कंगना रनौत के समर्थन में महाराष्ट्र के सीएम को लिखा पत्र ,अभिव्यक्ति की आजादी का ये कैसा न्याय ?

1
173
uftara-wrote-to-the-cm-of-maharashtra-in-support-of-kangana-ranaut-what-kind-of-justice-for-freedom-of-expression

मौलिक अधिकार भारत के संविधान के तीसरे भाग में वर्णित भारतीय नागरिकों को प्रदान किए गए वे अधिकार हैं जो सामान्य स्थिति में सरकार द्वारा सीमित नहीं किए जा सकते हैं और जिनकी सुरक्षा का प्रहरी सर्वोच्च न्यायालय है। ये अधिकार सभी भारतीय नागरिकों की नागरिक स्वतंत्रता प्रदान करते हैं जैसे सभी भारत के लोग, भारतीय नागरिक के रूप में शान्ति के साथ समान रूप से जीवन व्यापन कर सकते हैं।

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना अपने बेबाक बयानों से बॉलीवुड की क़्वीन कहलाती हैं हाल ही में कंगना का एक बयान जिसमें उन्होंने मुंबई को पीओके महाराष्ट्र सरकार तालिबान बताया जो महाराष्ट्र सरकार को रास नहीं आया और पाली हिल क्षेत्र में स्थित कंगना के कार्यालय पर बुलडोजर चला दिया,जिससे फिल्म जगत से जुड़े लोगों में काफी रोष नजर आया।आपको बता दें कि कंगना को y plus level की सुरक्षा केंद्र सरकार से मिली है।

यह भी पढ़ें : Kangana Ranaut को मिली Y कैटेगरी की सुरक्षा, अमित शाह का किया धन्यवाद।

हुआ यूँ कि कंगना और शिव सेना के बीच जुबानी जंग छिड़ गई,रोक सको तो रोक लो कहने वाली कंगना के कार्यालय को महाराष्ट्र सरकार ने गिरा दिया,दरअसल कंगना ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में उद्धव सरकार को निशाने पर लिया था,जिससे बीऍमसी ने कंगना के खिलाफ नोटिस जारी कर दिया,और आज सुबह जब कंगना मुंबई पहुंची तो तब तक महाराष्ट्र सरकार का बुलडोजर उनके कार्यालय पर चल चुका था।

यह भी पढ़ें : बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने कोरोना की संकट घड़ी में किया महादान

कंगना ने इस घटना के बाद एक वीडियो भी जारी किया जिसमें उन्होंने साफ कह दिया कि उद्धव ठाकरे आज तुमने फिल्म माफियों के साथ मिलकर मेरा घर तोडा है कल तुम्हारा घमंड भी टूटेगा साथ ही कंगना ने साफ कह दिया कि देशवासियों को जगाने के लिए वो अयोध्या तो क्या कश्मीर पर भी फिल्म बनाएंगी। कंगना की वीडियो के बाद ट्विटर पर #DeathOfDemocracy ट्रेंड करने लगा।

यह भी पढ़ें : रिया चक्रवर्ती के बयान से केदारघाटी निवासी खफा !कहा सुशांत ऐसे तो नहीं थे !

तुमने जो किया अच्छा किया 🙂#DeathOfDemocracy

Posted by Kangana Ranaut on Wednesday, September 9, 2020

कंगना के कार्यालय पर बुलडोजर चलाने वाली महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ उत्तराखंड फिल्म टेलीविज़न एवं रेडियो एसोसिएशन ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर इस घटना की निंदा की साथ ही संविधान की रक्षा हेतु इस पर उचित कार्यवाही की मांग भी की,बैठक में उफ़तारा अध्यक्ष प्रदीप भंडारी सहित अन्य पदाधिकारी,कांता प्रसाद,चंद्रवीर गायत्री,गंभीर जयाड़ा, दीपक रावत,डॉ अमरदेव गोदियाल,बृजेश भट्ट,राजेश रावत प्रमोद बेलवाल शामिल रहे।

यह भी पढ़ें : गुलजार छानिवाला ने उत्तराखंडी फैंस को दी ठंडी ठंडी गीत की सौगात !

uftara-wrote-to-the-cm-of-maharashtra-in-support-of-kangana-ranaut-what-kind-of-justice-for-freedom-of-expression
उफ़तारा का महाराष्ट्र सीएम को पत्र।
Facebook Comments