कोरोना वायरस के दो मामले अब ऋषिकेश के एम्स हॉस्पिटल में भी

0
433

Coronavirus

ऋषिकेश में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में कोरोना वायरस के आशंकित दो मामले पहुंचे हैं। दोनों लोगों के नमूनों को अभी प्रयोगशाला में परीक्षण के लिए भेजा जाना है। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि रविवार को एम्स ऋषिकेश में कोरोना वायरस के आशंकित दो मामले आए हैं। अब तक सात संदिग्ध मामले यहां पहुंचे हैं। इनमें चार ओपीडी और आईपीडी में हैं।

बॉलीवुड का यह सितारा अपनी इस फिल्म के लिए नहीं लेगा कोई फीस ,जानिए कारण

उन्होंने बताया कि इनमें से तीन की रिपोर्ट नकारात्मक, एक लंबित, एक को कम संदेह के कारण परीक्षण नहीं किया गया और दो नमूने अभी प्रयोगशाला में भेजे जाने हैं। बताया कि सभी लोग स्वस्थ हैं। बताया कि नकारात्मक रिपोर्ट और संगरोध के बाद एक को छुट्टी दे दी गई। सर्दी-जुकाम की शिकायत पर चीन के दो इंजीनियरों सहित पांच लोग शनिवार को कोरोना की जांच के लिए जिला अस्पताल पहुंचते तो अफरातफरी मच गई। हालांकि, प्रारंभिक जांच में किसी में भी कोरोना वायरस की पुष्टि नहीं हुई है, फिर भी एहतियात चीन के दो इंजीनियरों सहित चार लोगों को अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया है। सीमा पुल पर 65 लोगों की, जबकि खटीमा में नेपाल सीमा पर लगे शिविर में 35 लोगों की जांच की गई। किसी में भी कोरोना वायरस की पुष्टि नहीं हुई।

Coronavirus

मुख्यमंत्री ने किया महाकुंभ-2021 के शाही स्नानों की तिथियों का ऐलान

उधर, झूलाघाट पीएचसी के डा. कल्पित रौतेला ने बताया शनिवार को भी नेपाल से आने वाले 65 लोगों की जांच की गई। टीम में फार्मासिस्ट हरीश रावत, एसएसबी के एएसआई एसएस बिष्ट, कांस्टेबल महावीर, राहुल कुमार, महेश पाल सिंह, सुनीता गुज्जर मौजूद रहे। वहीं, शनिवार को नेपाल सीमा से सटे मेलाघाट में स्वास्थ्य विभाग की ओर से लगे शिविर में डॉ. उमेश गुप्ता और डॉ. साक्षी आर्या ने आने-जाने वाले लोगों की स्क्रीनिंग की।

Facebook Comments