जिकुड़ी मा पड़ी जांद माया की छलार (तरुणी आंछरी गीत”)

0
375
Taruni

देहरादून : उत्तराखंड खूबसूरत वादियों का प्रदेश है यहाँ की प्राकर्तिक सौंदर्यता के हर कोई दीवाने हैं।
इन हसींन वादियों को सबसे रूबरू करवाते हैं उत्तराखंडी गीत संगीत और सिनेमा जगत के लोग जो इन दुर्गम दृश्यों को कैमरे में कैद कर लेते हैं। चमोली जिले के माणा गाँव से सभी का परिचय है जो की हिंदुस्तान का अंतिम गाँव होने से विख्यात है और भगवान् बद्री नारायण का वास भी इसी धरती पर है।
माणा से कुछ किलोमीटर की दूरी पर है वसुधारा जहाँ ऐसा माना जाता है कि जिस पर भी पानी की बूंदें पड़े उसका जीवन सुफल समझो
जिस गीत से आज आपको अवगत करा रहे हैं उसकी शूटिंग भी वसुधारा में हुई है इतना सर्द मौसम होने के बाद भी कलाकारों का जोश कम नहीं हुआ और बन गया एक गीत तरुणी।
तरुणी आंछरी जागर कौन होती हैं आंछरी ?
आपके मन में एक सवाल जरुर आता होगा कि कौन हैं आंछरी आखिर कहाँ से आती हैं ये ,आपने कई कहानियों में भी इनका जिक्र सुना होगा। उत्तराखंड में एक लोककहानी बहुत प्रशिद्ध है जीतू बगड्वाल जिस पर स्वर्ग सी अप्सरा मोहित हो गई और वीर भड के चित मन को हर लिया।
कहीं कहीं ऐसा माना जाता है ये 9 बहने हैं जो कि दिखने में सुंदर स्वर्ग की अप्सरा होती हैं। इनकी देवी रूप में भी पूजा की जाती है। भराड़ी माता मंदिर 9 आंछरी बहनों का ही मंदिर है
तरुणी भी आंछरी को काल्पनिक नाम दिया गया है इस गीत में मेघा चंदोला आंछरी रूप में हैं और जानेमन नाराज ह्वेगे फेम गंभीर चौहान इस बार हरे जाने वाले हैं गीत के निर्माता एवं निर्देशक हैं कांता प्रसाद जिनका काम ही उनका परिचय है। kpg films के यूट्यूब चैनल पर रिलीज़ हुआ ये गीत अभी तक 1 लाख से ऊपर बार देखा जा चुका है गीतकार मिलन आजाद की रचना को मुकेश सती ने गाया है और संगीत से सजाया है उत्तराखंड के संगीतकार संजय कुमोला ताल पर साथ दिया है सुभाष पांडे ,अमित शर्मा ने इस गीत में कैमरे का कमाल दिखाया है।
आपको वीडियो देख के उत्तराखंड की दुर्गम घाटी को देखने का अवसर जरूर प्राप्त होगा।

एक सवाल पाठकों के लिए छोड़ के जा रहे हैं उम्मीद है आप उत्तर जरूर देंगे।
1 क्या सच में आंछरी होती हैं या बस लोककहावतों को ही सत्य माना जाए?

Hillywood News
(हर खबर करेगी असर)
Report राकेश धिरवांण
अन्य गीतों से जुडी जानकारी के लिए पढ़ते रहिये हर खबर उत्तराखंड सिनेमा जगत की

Facebook Comments