स्वरकोकिला मीना राणा ने दी गढ़वाली भजन ॐ श्री गणेशाय नमः भजन को आवाज !

1
388

श्री गणेशाय नमः हर शुभ कार्य का प्रारम्भ इसी जप से होता है,उत्तराखंड की स्वरकोकिला मीना राणा ने ॐ श्री गणेशाय नमः गढ़वाली भजन को आवाज दी है,इस भजन को संगीतकार संजय कुमोला ने संगीत से सजाया है। 

swarkokila-meena-rana-voice-to-garhwali-bhajan-om-shri-ganeshaya-namah-bhajan

शिव गौरी पुत्र गणेश सभी देवों में प्रथम पूज्य हैं और हर शुभ कार्य की शुरुआत श्री गणेशाय नमः से ही की जाती है,देवों के देव महादेव पुत्र विघ्नहर्ता गणेश हर विघ्नहर्ता हैं,उत्तराखंड की स्वरकोकिला मीना राणा ने अपने यूट्यूब चैनल से ॐ श्री गणेशाय नमः गढ़वाली भजन रिलीज़ किया है,ये भजन मीना राणा द्वारा ही रचित है इसे मधुर संगीत से संजय कुमोला ने सजाया है।

यह भी पढ़ें: सिनेमेटोग्राफर युवी नेगी युद्धवीर दिखेंगे लीड रोल में। चमोली नंदप्रयाग में चल रही है द्वी राति कु जप गीत की शूटिंग !

गौरी पुत्र गणेश बाल रूप से ही अद्भुत शक्ति के धनि थे,और माता पिता को ही संसार मानते थे,जब श्री गणेश  माता पार्वती के द्वारपाल बनकर अपना पुत्र धर्म निभा रहे थे लेकिन अपने पुत्र धर्म की रक्षा एवं माता के आदेश को मानने का कर्तव्य निभा रहे थे,तो नंदी गणों को पराजित कर अपने ही पिता से लड़ बैठे लेकिन गणेश के हठ ने भोलेनाथ को क्रोधित कर दिया और भोलेनाथ के हाथों अपने ही पुत्र का वध हो बैठा भोलेनाथ द्वारा जब गणेश के शीश को धड़ से अलग किया गया तो माता पार्वती इस दुःख को सहन न कर सकी और माँ की ममता ने श्री गणेश को पुनः जीवित कर के ही माना,जब पुनः भगवान् शिव के हाथों गणेश के मृत शरीर पर पुनः प्राण प्रतिष्टा की,गणेश जीवित तो हो उठे लेकिन मुख मिला गजा का और तब गणेशा गजानन गणेश कहलाए।

यह भी पढ़ें: लोकगायिका रेशमा शाह के इस वीडियो गीत में दिखी जौनसारी संस्कृति की झलक !आप भी जानिए इस रिपोर्ट में !

पूरे भारत वर्ष में गणेश उत्सव बड़े धूम धाम से मनाया जाता है,गणेश का अर्थ ही गणों का ईश है यानी गानों का स्वामी इनके ध्यान से ही रिद्धि सिद्धि एवं बुद्धि की प्राप्ति होती है,जब एक बार गणेश और कार्तिकेय में प्रतियोगिता हुई कौन सर्वप्रथम ब्रहांड के चक्कर लगाएगा वही श्रेष्ठ होगा,जब कार्तिकेय ब्रहांड भर्मण पर निकले तो वहीँ गणेश ने माता पिता की ही परिक्रमा की और ये कहकर कि माता पिता में ही सम्पूर्ण ब्रह्माण्ड समाहित है,इससे प्रसन्न होकर भोलेनाथ से प्रथम पूज्य देव का वरदान पा गए।

यह भी पढ़ें:युवा गायक अनिल अन्नू अपनी लेखनी एवं गायन से जीत रहे दर्शकों का दिल,सुरमा उलारया गीत हुआ रिलीज़ !

लोकगायिका मीना राणा ने गणेश का ध्यान कर बेहद ही शानदार भजन की रचना की है,शानदार भक्ति रस से भरपूर ये गढ़वाली भजन बेहद ही मधुर एवं कर्णप्रिय है,इतना ही मधुर संगीत से ये भजन सजाया गया है,मधुर भजन को विकास उनियाल ने फिल्माया है,भजन में मीना राणा संपूर्ण परिवार संग गणेश आरती करती नजर आई।

पदमश्री जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण का माहेश्वरी जागर रिलीज़ !ढोल की थाप से गूँजी देवभूमि !

तो आप भी इस मधुर भजन को सुनकर आनंदित जाइए,विघ्नहर्ता सभी भक्तों के विघ्न हरें ऐसी हमारी कामना।

 

Facebook Comments