VIDEO : सीमा पर तैनात एक फौजी की अपनी माँ के नाम चिठ्ठी कैसी होती है? देखिए प्रीतम भरतवाण के इस गीत को !

0
564
HUM KUSHAL

प्रीतम भरतवाण ने हर गीत की रचना विशेष उद्देश्य से की हैं उन्हीं गीतों में से एक गीत के बारे में आज हम आपको बताएँगे, हिया पराणी एल्बम में एक गीत जो देश के वीर जवानो को पूर्ण रूप से समर्पित है। जो गीत के माध्यम से देश के रक्षकों की कुशल क्षेम बताता है।प्रीतम भरतवाण ने अपने गायिकी से देश दुनिया में अपनी एक अलग ही पहचान बनाई है। पदमश्री से सम्मानित जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण ने अपने गीतों के जरिये देश दुनिया में उत्तराखण्ड की जागर संस्कृति का प्रसार किया है।देवी देवताओं के जागर,पंवाडों सहित कई बेहतरीन गीत संगीत जगत के प्रेमियों को सौगात स्वरुप दिए हैं।

जरूर पढ़े : आप भी देखें भोले बाबा के भजन नाची गैना मेरा भोले बाबा पर झूमता है पूरा उत्तराखण्ड -1 मिलियन लिस्ट में शामिल
,बात कर रहे हैं ‘हम कुशल छवां माँजी’ गीत के वीडियो की जिसमें एक ऐसे रिश्ते की कहानी दिखाई गई है जिसे कोई शब्दों में बयां नहीं कर सकता लेकिन फिर भी मन के भावों को कुछ हद तक शब्दों में उकेरा जा सकता है ऐसे ही गीत की रचना की है प्रीतम भरतवाण ने.सीमा पर तैनात एक फौजी जवान की अपनी माँ को कुशल क्षेम चिट्ठी पढ़कर दर्शक जरर भावुक हुए होंगे। ढोल सागर की विधा जो विलुप्ति की कगार पर थी उसे जीवन देने का कार्य कर रहे हैं भरतवाण।

जरूर पढ़ें : बामणी 2 गीत की रचना का क्या था उद्देश्य जानना जरुरी है – देखें पलायन पर कटाक्ष – गीत के माध्यम से

देश में हर दिन सीमा पर तनाव पूर्ण स्थिति बनी रहती है अगले क्षण का कोई विश्वास नहीं रहता है कब क्या?हो जाए। ऐसी तनावपूर्ण स्थिति में जब घर पर कुशल क्षेम का सन्देश आता है तो माँ का हृदय भर आता है।गाँव की झलकियों से भरा ये वीडियो गीत हार्दिक फिल्म्स के बैनर तले रिलीज़ हुआ है। मुकेश शर्मा एक फौजी जवान की भूमिका में सीमा पर एक फौजी जवान के हालातों को दर्शकों तक पहुँचाने में सफल रहे,प्रीतम भरतवाण के स्वरों के साथ इस गीत को संजय कुमोला के संगीत का साथ मिल तो ये गीत हर फौजी के दर्द को बया करता चला गया,बबलू जंगली के छायांकन में बने वीडियो का निर्देशन अरविन्द नेगी ने किया। सम्पादन की भूमिका में नागेंद्र प्रसाद ने माँ के हाथों पकड़ी चिठ्ठी में बेटे की तस्वीर दिखाकर इस दृशय को यादगार बना दिया।वीडियो को अब तक 3.5 लाख दर्शक यूट्यूब पर देख चुके हैं।

जरूर पढ़ें : रेशमा छोरी गीत बना युवाओं की पहली पसंद अब तक यूट्यूब पर मिले 1 मिलियन से अधिक व्यूज

गीतकार ने एक जवान की पूरी कहानी को शब्दों में बयां किया है जो कि दर्शकों को वीडियो देखकर अनुभव हो जाएगा। जवान देश रक्षा हेतु सीमा पर तैनात है और अपनी कुशलता का सन्देश चिठ्ठी में लिख रहा है,साथ ही घर में भी सबकी कुशलता लकी कामना कर रहा है,गाँव में किसी को भी चिठ्ठी आए तो उनको मेरा प्रणाम जरूर कहना ये भी चिठ्ठी में लिख रहा है। अब वृद्ध माँ के आँखों में उसकी याद में रोना जवान को भी रुला रहा है। सीमा पर एक जैसे हालत,माहौल,और दिन रात की तैनाती से किसी मौसम का पता नहीं चल रहा है और ऐसे समय में अपने गाँव के सुहाने मौसम को याद कर रहा है। चैत के महीने का फूला बुरांस जवान को बहुत याद आ रहा है,लेकिन फिर भी देशसेवा के भाव में कोई कमी नहीं रहेगी देश रक्षा की खातिर कमर कास कर सीमा पर हम तैनात हैं। वीडियो के माध्यम से देश के जवानों का दर्द दर्शकों तक पहुँचाने का पूरा प्रयास किया गया है जो सफल रहा,और उनके हालातों की सच्चाई सब तक पहुंचाई है। पूरे देश को चैन से सुलाने वाली कभी चैन की नींद नहीं सोते हैं और अपनी आखिरी सांस तक देश की रक्षा करते हैं।

लीजिये आप भी देखिए ये वीडियो और बताइये कैसा लगा आपको एक जवान की चिठ्ठी पढ़कर:

HILLYWOOD NEWS
RAKESH DHIRWAN

Facebook Comments