शहीद के घर बेटे का हुवा जन्म, बोली मा लेगा अपने पिता की शहादत का बदला

0
275

पुलवामा में हुए आतंकी हमले ने पूरे देश को आग बबूला करके रखा हुवा है अब तक 45 जवान शहीद हो चुके हैं सैनिको के परिवार में मातम पसरा है उधर एटा से एक खुशखबरी आयी है बता दें कि जम्मू-कश्मीर में 5 दिसंबर 2018 को एटा के जलेसर क्षेत्र के गांव रेजुआ के रहने वाले राजेश यादव पाकिस्तानी सेना के हमले में शहीद हो गए थे. उस वक्त उनकी पत्नी रीना यादव गर्भवती थीं.

जम्मू-कश्मीर में 5 दिसंबर 2018 को राजेश यादव पाकिस्तानी सेना के हमले में शहीद हो गए थे. बदले की आग में सुलग रहे शहीद के आंगन में मंगलवार शाम को किलकारी गूंजी तो शहीद का परिवार खुश हो गया. शहीद की विधवा पत्नी ने एक बेटे को जन्म दिया. बेटे के जन्म के बाद शहीद की पत्नी ने कहा कि वो अपने बेटे को सेना में भेजेगी. उसे पापा की शहादत का बदला लेना है.

सलमान का शहीदों को सलाम – आर्थिक मद्द का बढाया हाथ

बता दें जम्मू कश्मीर में 5 दिसंबर 2018 को एटा के जलेसर क्षेत्र के गांव रेजुआ के रहने वाले राजेश यादव पाकिस्तानी सेना के हमले में शहीद हो गए थे. उस वक्त उनकी पत्नी रीना यादव गर्भवती थीं. रीना के लिए ये समय बहुत ही दुविधापूर्ण था. पति के बिछुड़ने का गम खाए जा रहा था तो कोख में पल रहे बच्चे के जीवन की भी चिंता थी. पति की शहादत के बाद रीना ने एक सुंदर और स्वस्थ बालक को जन्म दिया है.
राजेश अपने माता-पिता की इकलौती संतान थे. शहीद के पिता नेम सिंह कहते हैं कि नाती के रूप में उनका बेटा आ गया. शहीद की मां रामवती ने कहा कि मेरे लिए तो ये बेटे से भी दुलारा है. पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद इस गांव में भी शहीद राजेश की यादें ताजा हो गई हैं. पूरा परिवार शहादत पर गर्व महसूस करता है.

शेर मेजर की शेरनी पत्नी – देश ने किया सलाम

लब है कि गुरुवार को सीआरपीएफ का काफिला जम्मू से कश्मीर की ओर जा रहा था. काफिले में करीब 78 गाड़ियां थीं. जिनमें 2500 से ज्यादा जवान मौजूद थे. आतंकियों ने जिस बस को टारगेट बनाया, उसमें 40 से ज्यादा जवान मौजूद थे. जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ने 350 किलो विस्फोटक से लदे वाहन को सीआरपीएफ की बस से भिड़ा दिया. जिससे हुए ब्लास्ट में हमारे जवानों के लहू से सड़कें लाल हो गईं. इस हमले में सीआरपीएफ के कुल 40 जवान शहीद हो गए.

Facebook Comments