Shradh 2019 : पितरो की शांति एव श्रद्धा का प्रतीक है श्राद्ध पक्ष,

0
408

Shradh 2019

उत्तराखंड। अपने पितरो के प्रति आस्था और श्रद्धा का प्रतीक है श्राद्ध | वैसे तो इंसान का शरीर पंच तत्व से बना होता है | मृत्यु उपरांत इंसान के शरीर को अग्नि में जला दिया जाता है लेकिन अजर अमर आत्मा अंतत छितिज़ में व्याप्त हो जाती है | उसी छितिज़ में व्याप्त आत्मा की शांति के लिए परिवार के सदस्य पितरो को श्राद्ध अर्थात तर्क या पिंड दान करते है |प्रत्येक वर्ष पितृ पक्ष में पितरो के श्राद्ध का आरम्भ होता है और इस वर्ष यह पक्ष 13 सितंबर से 28 सितंबर तक रहेगा | कुछ पंचागो के अनुसार 14 सितंबर से श्राद्ध पक्ष शुरू होगा | मान्यता यह है की पितृ पक्ष अश्वनी मास में देवी देवता व पितृ धरती पर विचरण करते है इसलिए इस पक्ष में पितरो को तर्पण देने जैसे शुभ कामो को किया जाता है |

Shradh 2019

बावन द्वादशी मेला समापन समारोह: त्रिजुगीनारायण में दिखा उत्तराखण्डी सितारों का मेला, पढ़े ये रिपोर्ट

इस दिन घरो में पूजा अर्चना की जाती है साथ ही पितरो के भोग के लिए विभिन्न व्यंजन बनाये जाते है | श्राद्ध के दिन घरो में शांति का वातावरण होना चाहिए | पूजा अर्चना व तर्पण देने के बाद पितरो के लिए भोग रखा जाता है साथ ही छोटी कन्याओ और पंडितो को भी भोजन कराया जाता है | श्राद्ध के भोजन में लहसुन व प्याज को वर्जित माना जाता है | श्राद्ध उसी दिन को किया जाना चाहिए जिस दिन व्यक्ति /पितृ की मृत्यु हुई हो | साथ ही ब्राह्मणो को दान दक्षिणा देनी चाहिए और पितरो से अनजाने में हुई गलतियों की छमा मांगनी चाहिए |

DISSTRACK मैशप मषाण : इस सिंगर ने लगाये मैशप सिंगर के ऊपर गंभीर आरोप, पढ़े ये रिपोर्ट

सीमा रावत की रिपोर्ट

Facebook Comments