देहरादून की शिवांगी जोशी को मिला दादा साहेब फाल्के अवार्ड

0
1200

स्टार प्लस का धारावाहिक ये रिश्ता क्या कहलाता है की नायरा को दादा साहेब फाल्के के खिताब से नवाजा गया। हां… हां वही सीरियल जिससे पहले अक्षरा और अब नयारा घर – घर की बहू बन गई है।
तो क्या पिता बनने वाले हैं ‘भाईजान’ सलमान खान
कम ही लोग जानते होंगे कि ये रिश्ता क्या कहलाता की नयारा यानी शिवांगी जोशी उत्तराखंड के देहरादून की रहने वाली है। शिवांगी ने दादा साहेब फाल्के का अवार्ड अपनी मां को समर्पित किया।

बीते शनिवार को मुंबई में आयोजित समारोह में शिवांगी को बेस्ट एक्ट्रेस और उनके सह कलाकार मोहसिन खान को बेस्ट एक्टर के लिए दादा साहेब फाल्के के खिताब से नवाजा गया था। शिवांगी की मां यशोदा जोशी ने कहा कि मदर्स डे पर बेटी ने दुनिया का सबसे खूबसूरत तोहफा दिया है। बेटी ने परिवार के साथ ही प्रदेश का नाम रोशन किया है।

शिवांगी ने कहा कि सिनेमा का सबसे बड़ा अवार्ड पाकर वह बेहद खुश हैं। उन्होंने बताया कि धारावाहिक ने अब तक 2920 एपिसोड पूरे कर लिए हैं। शिवांगी की छोटी बहन शीतल जोशी डीएवी कॉलेज से बीकॉम की पढ़ाई कर रही हैं।


दादा साहेब फाल्के पुरस्कार सिनेमा के क्षेत्र में भारत का सर्वोच्च पुरस्कार है। जिसे प्रत्येक वर्ष राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में दिया जाता है। यह पुरस्कार भारतीय सिनेमा के विकास में उत्कृष्ट योगदान देने वाले व्यक्तियों को दिया जाता है। भारत सरकार की ओर से साल 1969 में दादा साहेब फाल्के पुरस्कार का शुभारंभ किया था।

Facebook Comments