यूट्यूब पर छाया शगुन उनियाल गुड़िया का गीत दूर छाँ विदेश बाबा जी पार दुबई का पौर अब तक 2 मिलियन पार

0
863
shagun Uniyal

उत्तराखंड :

shagun uniyal door cha videsh baba ji

कहते हैं ना बड़ों का आशीर्वाद और साथ हो मन में कुछ करने की ललक हो तो कोई भी मुश्किल आसान हो जाती है आज परिचय करवाते हैं आपका ऐसी ही एक नन्ही सी कलाकार से जो अपनी माँ के आशीर्वाद से आज हर किसी के मन मे बस गई है। जी हाँ बात कर रहे हैं शगुन उनियाल की।
गढ़कुमाऊं फिल्म्स के बैनर तले शगुन का खुदेड़ गीत दूर छाँ विदेश बाबा जी पार दुबई का पौर यूट्यूब पर रिलीज़ हुआ था, इस गीत से शगुन घर घर में पहचानी जाने लगी और अभी ताजा आंकड़ों के हिसाब से 2 मिलियन व्यूज पा चुकी हैं अपने गीत पर और अपनी सुरीली आवाज से सबके दिलों में बस गई है।

chhori bindass new garhwali video

shagun uniyal door cha videsh baba ji

इससे पहले शगुन का रंगीलो मुल्क गाना भी काफी हिट हुआ था एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था उसे गढ़वाली गीत बहुत पसंद हैं और फ़िलहाल गढ़वाली गीतों को गाने का ही मन है अपनी माँ को अपना प्रेरणा श्रोत मानती हैं जिनसे गढ़वाली बोली की समझ मिली। सात साल की उम्र से स्टेज शो कर चुकी हैं, आवाज सुनो पहाड़ों की कार्यकर्म मैं भी घुघूती घुरोंण लगीं मेरा मैत की गाने से जजों से प्रशंशा पा चुकी हैं।
शगुन कफना श्रीनगर गढ़वाल गाँव की हैं और फिलहाल शगुन दिल्ली में रहती हैं और पहाड़ प्रेम नहीं भूली हैं.साथ ही औरों को भी सन्देश देती रहती हैं आपको बता दें कि उनका ‘हे मोहना’ पहला गीत था।

यनि प्यारी जलमभूमि -पावन देवप्रयाग च.. गढ़वाली चित्रगीत का नई टिहरी में लोकार्पण

Hillywwod News
Rakesh Dhirwan

Facebook Comments