ढाई महीने से लापता राजेन्द्र सिंह नेगी के पिता ने प्रधानमंत्री को भेजा ज्ञापन

0
1105

ढाई महीने से लापता राजेन्द्र सिंह नेगी के पिता ने प्रधानमंत्री को भेजा ज्ञापन

8 जनवरी 2020 को लापता हुए 11 गढ़वाल राइफल के हवलदार राजेन्द्र सिंह नेगी का अब तक कोई भी पता नहीं चल पा रहा है, उनकी तलाश में सर्च ओपरेशन भी चलाया गया लेंकिन अब तक कोई सुराग नहीं मिला है, राजेन्द्र नेगी के पिता तब से बेटे को तलाशने की मांग को लेकर नेताओं और अधिकारियों के दफ्तर के चक्कर काट रहे हैं लेकिन 76 साल के बुजुर्ग पिता को दिलासा मिलने के अलावा और कुछ नहीं मिला, थक हार कर अब उन्होंने पी.एम. मोदी से अपने बेटे को वापिस लाने की मांग की है। लापता राजेन्द्र नेगी के पिता ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से ये अपील की है कि वो उनके बेटे को जल्द से जल्द ढूंढने की कोशिश करें। पिता का एक विडियो सामने आया है जिसमें वो प्रधानमंत्री मोदी से अपने बेटे को वापिस लाने की मांग करते हुए भावुक हो गये।

Cricket News : कोरोना का कहर अब क्रिकेट पर भी, पी.एस.एल मैच रद्द

ऐसे में लापता राजेन्द्र सिंह नेगी के परिवार की हालत दिन प्रतिदिन अपने बेटे की याद में बिगड़ रही है और रो रो कर बुरा हाल है। लोगो ने धरने दिये सोशल मीडिया में लापता हवलदार राजेन्द्र सिंह नेगी को वापस लाने की गुहार लगाई थी लेकिन सरकार अभी तक इस मामले में खामोश है।

Garhwali Maangal : देणा हुयां खोली का गणेशा, क्या आपने देखा हेमा नेगी करासी का मांगल गीत

माथे पर चिन्ता की लकीरें और बेटे के घर लौटने का इंतजार कर रहे उनके पिता रतन सिंह नेगी लगातार सरकार से अपने बेटे को ढूढंने की गुजारिश कर रहे हैं। बेटे की खोज की मांग को लेकर वे इन दिनों नेताओं और अधिकारियों के चक्कर काट रहे हैं। उपजिलाधिकारी कर्णप्रयाग के माध्यम से उन्होंने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ज्ञापन भेजा है।

#जय हिन्दमाथे पर चिंता की लकीरें और नम आंखों में बेटे के घर लौटने का इंतजार रहे ये हवलदार राजेन्द्र सिंह नेगी के पिता रतन सिंह नेगी है । 72 वर्षीय रतन सिंह नेगी चमोली जिले के पज्याणा गांव के रहने वाले है । मीडिया से रूबरू होते हुए उन्होंने ने बताया कि सरहदों पर देश रक्षा के दौरान बीते 8 जनवरी से लापता उनके बेटे हवलदार राजेन्द्र सिंह नेगी का अभी तक कुछ पता नही लग पाया है । जिससे उनके परिवार पर दुःखों का पहाड़ टूट गया है । जिससे वे काफी दुखी व चिंतित है । बेटे की ढूंढ खोज की मांग को लेकर वे इन दिनों नेताओ व अधिकारियों के चक्कर काट रहे है । उपजिलाधिकारी कर्णप्रयाग के माध्यम से उन्होंने आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ज्ञापन भेजा है । सैनिक राजेन्द्र सिंह नेगी के छोटे भाई कुंदन सिंह ने हमे बताया कि बचपन से पले बढ़े हम दोनों भाइयों की याद मुझे बहुत सताती है । मेरा भाई कैसा होगा किन हालातो में होगा यह बात सोच सोचकर मन दुखी हो गया है । नेताओ के आश्वाशनो से मन ऊब सा गया है अब देवी देवताओं पर ही विश्वास है कि मेरा भाई सकुशल एक दिन जरूर लौट कर घर वापस आएगा ।

Posted by Uttrakhand sanskriti on Monday, March 16, 2020