पहाड़ के घरो की याद दिलाता है देहरादून का ”पठाल होम स्टे ” होटल

0
1489

Pathal Home Stay

उत्तराखंड में आजकल हर कोई अपने पहाड़ो को छोड़कर शहरो में बसना चाहता है। न तो किसी को गाँव का रहन सहन पसंद आता है न ही गाँव के वो घर। इन कारणों से गाँव खाली होते जा रहे है। इन खाली गाँवों में अगर कोई घर रह भी गया है तो उनमे भी गाँव जैसा अपनापन नहीं आता न ही पहले जैसे घर देखने को मिलते है, लेकिन गांव जैसा फील देता एक रेस्ट्रोरेंट देहरादून में ”पठाल होम स्टे ”के नाम से खुला है। जो की बिलकुल गाँव के पुराने घरो की भांति है।

कई प्रधान जीतने के बावजूद कुर्सी नहीं संभाल पायेंगे, चुनावी माहौल ने दिलाई इस गढ़वाली गीत की याद, पढ़े पूरी खबर

देहरादून में अभी हाल ही में एक होटल की ओपनिंग हुई। जो की बिलकुल गाँव के घरो की भांति ही है। इसकी खास विशेषता यह है की यह होटल सिर्फ पत्थरो की कत्तल से बना हुआ है, जिसके कारण इसका नाम पठाल होम स्टे है। पठाल से सब अच्छी तरह वाकिफ होंगे पहले के जमाने में गांव में घर पठाल के बने होते थे। यह रेस्ट्रोरेंट भी गाँवों की घरो की भाँती ही है जिसे देख कर अपने गाँवों की याद जरूर आ जाती है।

Pathal Home Stay

आम्रपाली दुबे का नया वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

आपको बता दें की यह होटल देश की सेवा कर चुके मेजर गोर्गी ने बनाया है। जो की सहस्त्रधारा रोड स्थित कुल्हान गांव के रहने वाले है। मेजर ने अपना जीवमं देश के प्रति न्योछावर कर दिया तथा सेवनिर्वित होने के बाद अपना जीवन पहाड़ के लोगो को वापस अपने पहाड़ की तरफ रुक करने के लिए उन्हें जागरूक करने में लगा दिया।

कोलकाता की 9 साल की प्रीति भट्‍टाचार्य ‘सुपर स्टार सिंगर’ की विजेता बनी,ट्रॉफी के साथ 15 लाख रूपये भी मिले।

इस होटल में आये दिन होम स्टे के लिए बुकिंग आती रहती है। एक रात रुकने का चार्ज मात्र 3800 बताया गया है। यहां पर स्टे करने पर गाँव जैसा माहौल तो मिलेगा ही साथ ही प्राकृतिक सौंदर्य भी देखने को मिलेगा। कही न कही लोगो के ऐसे प्रयास उन लोगो को पहाड़ जाने के लिए जरूर प्रेरित करेंगे जो अपने पहाड़ को छोड़ शहर में आ बसे है।

Pathal Home Stay

सीमा रावत की रिपोर्ट

Facebook Comments