पन्नू गुसाईं Pannu gusain फिर बने पतरोल,कुमाउनी वीडियो रिलीज़ ! दर्शकों को आया पसंद।

2
781

पन्नू गुसांई उत्तराखंड के घर घर में पहचाने जाने वाले कलाकार हैं जिन्होंने अपने अभिनय एवं नृत्य के बलबूते ये पहचान बनाई है,जहाँ एक ओर इनके साथ के कलाकार आज रिटायर्ड हो चुके हैं या इंडस्ट्री से अब कोई नाता नहीं रखते वहीँ पन्नू गुसाईं(pannu gusain) आज भी लगातार अपनी उपस्थिति बनाये हुए हैं. इस बीच पन्नू का नया वीडियो न काट लछिमा बांज रिलीज़ हुआ है. 

Chandani Enterprises के माध्यम से पन्नू गुसाईं(pannu gusain) एवमं पूनम गौनियाल के अभिनय से सजा वीडियो गीत नी काट लछिमा बांज रिलीज़ आज सुबह ही रिलीज़ किया गया जो रिलीज़ के साथ ही इतनी तेजी से फैला कि देखते ही देखते अच्छे खासे व्यूज बटोर गया,इसे पन्नू गुसाईं की फैन फॉलोइंग का असर कहें या Chandani Enterprises की गुणवत्ता वाले वीडियोज का असर ये तो आप ही तय कर पाएंगे।नी काट लछिमा बांज की रचना चंद्र प्रकाश ने की है और आवाज भी दी है इसमें संगीत सागर शर्मा ने दिया है एवं छायांकन अमित शर्मा ने किया है वीडियो को निर्देशित प्रेम बिष्ट एवं कोरिओग्राफ विजय भारती ने किया है।

यह भी पढ़ें : उत्तराखंड के सुपरस्टार सिंगर किशन महिपाल का यूट्यूब चैनल हैक, फैन्स से माँगा सहयोग।

दोनों ही हालातों में इसका लाभ निर्माता को ही पहुँचता है,पन्नू गुसाईं एवं पूनम की जोड़ी स्क्रीन पर भले ही एक दूसरे के विपरीत रोल में हो लेकिन अभिनय की तारीफ़ वीडियोज में पड़े पन्नू गुसाईं की वाह वाही से पता चल जाता है कि अभिनेता पन्नू गुसाईं क्यों इस इंडस्ट्री के बेताज बादशाह हैं और आज भी वही रुतबा बरक़रार रखने में कायम हैं।

यह भी पढ़ें : तू लागोंदी हिंदी में ठेठ पहाड़ी छौं, पन्नू गुसाईं की एक्टिंग और सुरेन्द्र सेमवाल के गीत के मुरीद हुए दर्शक

इस बार दर्शकों के चहेते सितारे पन्नू गुसाई पतरोला(पटवारी) जो कि ग्रामीण क्षेत्रों का चौकी इंचार्ज होता है और न्यायपालिका का मुखिया होता है जल जंगल एवं जमीन से जुड़े सभी विभाग एक पटवारी ही देखता है।

ग्रामीण इलाकों में ड्यूटी लगी होने के कारण एक पटवारी भी गावं के लोगों के साथ घुल मिल जाता है और वहाँ की स्थानीय महिलाओं का भाई बन जाता है क्योंकि पहाड़ का जीवन और जंगल दूसरे के पूरक हैं,महिलाओं का जंगल से पशुओं के लिए चारा लाना एवमं लकड़ी लाना दैनिक दिनचर्या का हिस्सा है ,जिससे वहां के पटवारी से उनका अच्छा व्यवहार बन जाता है क्योंकि उस घनघोर जंगल में वही उनकी जंगली जीवों की रक्षा करता है और अपना भाई धर्म भी निभाता है।

यह भी पढ़ें : Geeta Uniyal का पहाड़ी लुक हुआ वायरल, फोटोज़ में दिखा गढ़ कुमाऊं का पहनावा।

उत्तराखंड में ऐसे कई पतरोलु या पटवारी भी होते हैं जो अपने कुशल व्यवहार से जनता के दिलों में राज करते हैं क्योंकि पैसा तो हर कोई कमा लेता है लेकिन इंसान असल मायने में ऐसे ही अधिकारी अपने व्यवहार से याद किए जाते हैं ,लेकिन सिर्फ व्यवहार ही देखेंगे तो नौकरी खतरे में पड जाएगी  इसीलिए इन दोनों का तालमेल बिठा कर साथ चलना पड़ता है और ऐसे अधिकारी हमेशा याद रखे जाते हैं।

यह भी पढ़ें : हिमाचली चित्रगीत सहेली में दिखीं मिनी उनियाल !! खूबसूरती एवं अभिनय के कायल हुए दर्शक !!देखें आप भी

और इस विषय के ऊपर कई लोकगायकों ने गीत लिखे हैं जिनमें उत्तराखंड गढ़ रत्न का गीत जिदेर घस्येरी भी काफी प्रसिद्ध रहा था और जो आज भी पर्वतीय अंचलों में जीवित है और खास बात आपको बता दें कि इस गीत में भी पन्नू गुसाईं ही पतरोल के किरदार में थे।

पूरी टीम के मिले जुले संयोजन का ही परिणाम है कि स्क्रीन पर वीडियो निखर कर सामने आया है।

Facebook Comments