महामहिम के हाथों पदमश्री से सम्मानित हुए जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण

0
937
पदमश्री प्रीतम भरतवाण

लोक कला एवं संगीत के क्षेत्र में अपना अहम् योगदान देने के लिए जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों पदमश्री से सम्मानित हुए हैं। प्रीतम भरतवाण नेउत्तराखण्ड की ढोल सागर,जागर,पँवाड़ों को पूरी दुनिया तक पहुँचाने का काम किया है।प्रीतम भरतवाण को उत्तराखण्ड विभूषण,सुर सम्राट,जागर सम्राट,हिमालय रत्न सम्मान एवं उपाधियों से नवाजा जा चुका है।

जरूर पढ़ें : बामणी 2 गीत की रचना का क्या था उद्देश्य जानना जरुरी है – देखें पलायन पर कटाक्ष – गीत के माध्यम से

प्रीतम भरतवाण को पहली बार तौंसा बौ एल्बम से लोकप्रियता मिली जिसके बाद इनकी लोकप्रियता और गीतों की भरमार बढ़ती ही चली गई और उन्हें जागर सम्राट से जाना जाने लगा। 1995 में तौंसा बौ कैसेट रामा कैसेट ने रिलीज़ की थी। फिर सरूली मेरु जिया लगिगे,टक्क,सुबेर,रौंस, बांद अमरावती और उत्तराखण्ड में 8 गीतों की अंतिम एल्बम नारंगा-सारंगा काफी लोकप्रिय हुई।प्रीतम भरतवाण ने कई देवी-देवताओं के जागर एवं वीर भडों के पंवाड़े गाए जिससे उन्हें जागर सम्राट का सम्मान प्राप्त हुआ।

जरूर पढ़ें : VIDEO : सीमा पर तैनात एक फौजी की अपनी माँ के नाम चिठ्ठी कैसी होती है? देखिए प्रीतम भरतवाण के इस गीत को !

प्रीतम भरतवाण 1998 में All India Radio के जरिये भी अपनी कला को देश भर में फैलाया। भरतवाण न केवल जागर, लोकगीत,पंवाड़े,घुयाल नहीं गाते हैं बल्कि ढोल,दमाऊं,डोंर,थकुली,हुड़का उत्तराखंडी वाद्यय यंत्र बजाने में महारथी हैं।उत्तराखण्ड देहरादून के रायपुर ब्लॉक में जन्मे प्रीतम भरतवाण ने देश दुनिया में अपनी संस्कृति को देश दुनिया तक पहुँचाया है। भरतवाण के साथ एल्बम नारंगा सारंगा-जागर भीम दुर्योधन युद्ध प्रसंग वीडियो में डॉ. स्टीफन फियोल (प्रोफ़ेसर सिनसिनाटी यूनिवर्सिटी अमेरिका ) का अदभुत ढोल दमाऊ में जुगलबंदी का संगम दुनिया देख चुकी है। भरतवाण की अपनी संस्कृति के प्रति समर्पण भाव को दर्शाता है।स्थानीय स्तर पर वह हेम कला लोक मंच से युवा पीढ़ी को ढोल सागर की विद्या सिखाने का कार्य भी कर रहे हैं जो कि इस धरोहर को संजोने में अहम् योगदान है। प्रीतम भरतवाण के लाइव शो के दौरान इंसानी शरीर में देव जाग्रत हो उठते हैं।

preetam bhartwan jaagar samrat

प्र्रीतम भरतवाण को उत्तराखण्ड विभूषण,सुर सम्राट,जागर सम्राट, हिमालय रत्न और पदमश्री सम्मान एवं उपाधियों से नवाजा जा चुका है।

आप भी देखिए जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण को पदमश्री सम्मान मिलते हुए।

हिल्लीवुड न्यूज़ सभी संगीत-प्रेमियों की ओर से जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण को पदमश्री सम्मान मिलने पर हार्दिक शुभकामनाएं देता है आपका कला एवं संगीत जगत में योगदान सदैव प्रेरणा का विषय रहेगा। साथ ही उत्तराखण्ड की दो और हस्तियों पर्वतारोही बछेंद्री पाल एवं फोटोग्राफर अनूप शाह को भी पदमश्री मिलने पर हमारी शुभकामनाएँ।

प्प्रीतम भरतवाण का भारत सरकार को आभार

जरूर पढ़ें : बाडुली २०19 के लिये नरेन्द्र सिंह नेगी और किशन महिपाल ने साथ दी आवाज़ – होगा बड़ा धमाल

HILLYWOOD NEWS
RAKESH DHIRWAN

जरूर पढ़ें : उत्तराखंड में रिक्रिएशन का दौर जारी रिलीज़ हुआ कमान सिंह तोपवाल का गढ़वाली डीजे मैशअप

Facebook Comments