किशना की फ्योंलडिया ने बनाया रिकॉर्ड। बना यूट्यूब पर 2 करोड़ व्यूज पाने वाला पहला गढ़वाली गीत !

1
405
fyonladiya

स्वर्गीय शिव प्रसाद पोखरियाल द्वारा रचित लोकगीत फ्योंलाडिया जिसका फ्यूज़न मखमली आवाज के धनी किशन महिपाल ने अपनी आवाज में तैयार किया और उनकी आवाज का जादू पूरी देश-दुनिया में चला। फ्योंलड़िया गीत ने उत्तराखण्ड संगीत के इतिहास में नया रिकॉर्ड कायम किया है जो कि सम्पूर्ण उत्तराखण्ड के लिए गौरव का विषय है,इसका श्रेय किशन महिपाल को जाता है जिन्होंने इस लोकगीत को देश-दुनिया तक पहुँचाया और यूट्यूब पर 2 करोड़ व्यूज पाने वाला पहला उत्तराखण्डी गाना बना।

जरूर पढ़ें : इन गढ़वाली गीतों की रही 2018 में धूम, जानें कौन कौन शामिल हुआ टॉप 10 में।

फ्योंलड़िया गीत शायद ही कोई संगीत-प्रेमी ऐसा हो जिसने न सुना हो,स्वर्गीय शिव प्रसाद पोखरियाल की रचना को जब किशन महिपाल ने अपनी जादुई आवाज दी तो सभी मंत्रमुघ्ध हो गए,और हर किसी की जुबान पर फ्योंलडिया त्वे देखिक औंदी यो मन मा तेरो मेरो साथ छयो पेला जनम मा गीत छा गया।उत्तराखण्ड संगीत के इतिहास में किशन महिपाल के गीत ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए और यूट्यूब पर 2 करोड़ व्यूज का रिकॉर्ड अपने नाम किया।किशन महिपाल ने ये गीत स्वर्गीय शिव प्रसाद पोखरियाल को समर्पित किया है।

जरूर देखें VIDEO : सीमा पर तैनात एक फौजी की अपनी माँ के नाम चिठ्ठी कैसी होती है? देखिए प्रीतम भरतवाण के इस गीत को !

इस ऐतिहासिक गीत का संगीत ईशान डोभाल ने तैयार किया जबकि ताल संयोजन सुभाष पाण्डे ने किया। फ्योंलडिया की भूमिका में खूबसूरत अभिनेत्री आन्या बिष्ट ने पहाड़ की खूबसूरती का दीदार पूरी दुनिया को करा दिया है,किशन महिपाल ने इस गीत में गायन के साथ ही अन्य तकनीकी विभाग भी संभाले उन्होंने गायन सहित छायांकन/संपादन एवं निर्देशक की भूमिका बखूबी निभायी। वहीँ स्टूडियो शॉट्स छायाकार गोविन्द नेगी ने लिए। पोस्ट प्रोडक्शन में सुर्यांशू रावत का साथ मिला।

जरूर पढ़ें : आप भी देखें भोले बाबा के भजन नाची गैना मेरा भोले बाबा पर झूमता है पूरा उत्तराखण्ड -1 मिलियन लिस्ट में शामिल

साथ ही गीत में किशन महिपाल ‘किशना’ ने पहाड़ी रैप भी किया है
छाजा माँ बैठिक खुटी हल्काणी
हाथ मुबेल, धोंपेली हिलाणी
तेरी नाके नथुली, तेरी माथे बिंदुली
केते सनकाणी, अर क्या च बिन्गाडी

जरूर पढ़ें : ममता थपलियाल का बालू कन्हैया गढ़वाली भजन सुना जा रहा देवभूमि के घर- घर में आप भी सुनिए ये मधुर भजन

उत्तराखण्ड संगीत की गूंज अगर सही मायनों में देश दुनिया तक पहुंची है तो फ्योंलड़िया गीत के जरिए ही पहुंची है,फ्योंलड़िया गीत के बिना किसी भी सांस्कृतिक या वैवाहिक कार्यक्रम का संपन्न अधूरा रह जाता है,गीत से जुडी हुई पूरी टीम बधाई की पात्र है जिन्होंने संस्कृति के प्रचार-प्रसार में अपना अहम् भूमिका निभाई है। 1 करोड़ की जनसँख्या वाले प्रदेश के लोकगीत को दुगनी मात्रा में सुने जाना प्रदेश की संस्कृति एवं यहाँ की खूबसूरती का दुनियाभर में देखे जाना गर्व का विषय है।संगीत अपने हदें नहीं जानता है इसीलिए इसके चाहने वालों की संख्या इतनी ज्यादा है,संगीत की दुनिया में भाषा कभी कभी प्रभावहीन हो जाती है भले ही गीत के बोल समझ में न आते हों लेकिन संगीत में वो बात है जो अंतर्मन तक अपना असर छोड़ती है।

रेशमा छोरी गीत बना युवाओं की पहली पसंद अब तक यूट्यूब पर मिले 1 मिलियन से अधिक व्यूज

हिलीवुड न्यूज़ उत्तराखण्ड के समस्त संगीत-प्रेमियों की ओर से किशन महिपाल को हार्दिक बधाई देता हैं :

HILLYWOOD NEWS
RAKESH DHIRWAN

RAKESH DHIRWAN

Facebook Comments