मनवर रावत बने ‘गढ़वाली कुमाऊनी एवं जौनसारी भाषा’ अकादमी के नए उपाध्यक्ष !

1
231
https://www.hillywoodnews.in/manwar-rawat-bec…jaunsari-academy/ ‎

दिल्ली सरकार ने उत्तराखंड की संस्कृति को बढ़ावा देने वाली गढ़वाली कुमाउनी जौनसारी भाषा अकादमी का नया उपाध्यक्ष मनवर सिंह रावत को नियुक्त किया है।इससे पहले ये पद स्वर्गीय हीरा सिंह राणा के पास था। 

दिल्ली सरकार ने गढ़वाल मूल के मनबर सिंह रावत को गढ़वाली कुमाऊनी एवं जौनसारी भाषा अकादमी, दिल्ली का नया उपाध्यक्ष नियुक्त किया है। यह पद प्रसिद्ध कुमाऊनी गायक हीरा सिंह राणा के असामयिक निधन के बाद खाली था।दिल्ली/एनसीआर में रह रहे लाखों प्रवासी उत्तराखंडियों की अपनी भाषा एवं संस्कृति को लेकर लम्बे समय से की जा रही मांग पर दिल्ली सरकार द्वारा गत वर्ष 16 अक्टूबर 2019 को “गढ़वाली-कुमाऊँनी-जौनसारी” भाषा अकादमी का गठन किया गया था

यह भी पढ़ें: बौजी गढ़वाली प्रोमो विवादों में !दर्शकों ने कहा ये हमारी संस्कृति नहीं !

उत्तराखंड से सम्बद्ध भाषा, साहित्य एवं संस्कृति को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से गठित यह देश की पहली अकादमी है। जिसके पहले उपाध्यक्ष उत्तराखंड के प्रसिद्ध लोक गायक, जाने माने कवि एवं गीतकार हीरा सिंह राणा को बनाया गया था। परन्तु बीते 13 जून 2020 को उनके आकस्मिक निधन के बाद यह पद रिक्त हो गया था। गुरुवार को उत्तराखंड मूल के एमएस रावत को गढ़वाली कुमाऊनी एवं जौनसारी भाषा अकादमी दिल्ली का नया उपाध्यक्ष नियुक्त किया है। एमएस रावत शुरू से समाज सेवा से जुड़े रहे है। इससे पहले वे यमुनापार के पौड़ी, टिहरी, चमोली, रुद्रप्रयाग की सबसे बड़ी संस्था गढदेशीय भ्रातृ मंडल के महासचिव भी रह चुके हैं। रावत भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में कई पदों पर रह चुके हैं। मनबर सिंह रावत दिल्ली के आईपी एक्सटेंशन में अपना स्कूल चलाते है। शिक्षा के क्षेत्र में उन्होंने कई उपलब्धियां हासिल की है।

यह भी पढ़ें: गीताराम कंसवाल ने बनाई अपने सुपरहिट गीतों की समलौण्या रस्याण!

 

Facebook Comments