मैं पहाड़ों कु रैबासी गीत की मची धूम, पार्ट-2 की पूरी हुई तैयारी

0
267

मैं पहाड़ों कु रैबासी तू दिल्ली रौण वाली…यह गढ़वाली गीत इन दिनों लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। जिसे उत्तरकाशी के ग्राम भेटियारा निवासी देश दीपक नौटियाल ने लिखा है। पेशे से इंजीनियर देश दीपक अब इस गीत का पार्ट टू लाने की तैयारी कर रहे हैं। जिससे श्रोताओं की ख़ुशी दुगनी हो गई है।

उत्तराखंड में आज भी बिगड़ा रहेगा मौसम, बारिश और बर्फबारी के आसार

दरअसल, भेटियारा गांव निवासी देश दीपक नौटियाल (33) वर्तमान में इंग्लैंड के कैंब्रिज स्थित एक मोबाइल चिप डिजाइन करने वाली कंपनी में कार्यरत हैं। उन्होंने हिट पहाड़ी गीत “मैं पहाड़ों कु रैबासी तू दिल्ली रौण वाली” की रचना की है। देश दीपक ने बताया कि पहाड़ों कु रैबासी गाने का आइडिया उन्हें तब आया जब वह गांव से शहर की और आए। उस दौरान उन्हें लगा कि जिस शुद्ध हवा, पानी, स्विमिंग पूल पिकनिक के लिए शहरवासी पैसे खर्च करते हैं, वह तो गांव में फ्री में हैं। इस गीत को हिंदी में लिखने की जगह उन्होंने बहुत सरल गढ़वाली में लिखा है। उन्होंने बताया कि “पहाड़ो कु रैबासी” का पार्ट टू लाने पर भी काम चल रहा है। इसके अलावा वह देहरादून शहर और बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ पर भी गीत लिख चुके हैं।

अनंत अंबानी और राधिका मर्चेंट के प्री-वेडिंग सेरेमनी में जुटे सितारे

इस गीत का जादू लोगों पर खूब चल रहा है। लगातार वायरल हो रही रील के कारण ये गाना सोशल मीडिया पर छाया हुआ है। गीतकार देश दीपक ने पहाड़ों कु रैबासी गीत को ऊंचाइयां देने के लिए गायक सौरव मैठाणी की सराहना की है। बता दें, अभी तक इस गीत को यूट्यूब पर 3.7 मिलियन व्यूज मिल चुके है।