पदमश्री जागर सम्राट प्रीतम भरतवाण का माहेश्वरी जागर रिलीज़ !ढोल की थाप से गूँजी देवभूमि !

2
801

पदमश्री जागर सम्राट डॉ प्रीतम भरतवाण का नया जागर गीत माहेश्वरी जागर रिलीज़ हो चुका है,हरिद्वार स्थित सिद्धपीठ कुंजापुरी देवी मंदिर मेँ जागर का फिल्मांकन हुआ है,जागर सम्राट ने उत्तराखंड से समस्त देवी देवताओं की महिमा का गुणगान माहेश्वरी जागर में किया है। 

पारम्परिक लोककला के संरक्षण में उत्कृष्ट कार्य करने हेतु पदमश्री से सुशोभित डॉ भरतवाण ने जागर विधा को देश दुनिया के कोनों कोनों तक पहुँचाया,और इस विधा का महत्त्व दुनिया को बतलाया,मात्र 13 वर्ष की उम्र से जागर कला का ज्ञान रखने वाले जागर सम्राट अपने आप में एक सागर हैं,लोकसंगीत के प्रति उनका समर्पण उन्हे  हिमालय पुत्र बनाता है,जहाँ एक तरफ आज की पीढ़ी अपनी सभ्यता संस्कृति को भूल बैठी है वहीँ इन्होने जागर कला को न केवल जीवित रखा बल्कि भावी पीढ़ी को भी इसका ज्ञान दिया।

यह भी पढ़ें : गीत संगीत एवं शानदार फिल्मांकन से बने वीडियो गीत ‘ओ मेरी माया’ को खूब पसंद कर रहे दर्शक !

जागर सम्राट की कलम एवं मधुर कंठ से इस कड़ी में अब एक और जागर शरीक हो गया है,गिंजयाली फिल्म्स से प्रीतम भरतवाण का नया जागर गीत माहेश्वरी जागर रिलीज़ हुआ है,उत्तराखंड देवों की भूमि है,यहाँ के कण-कण में देवी देवताओं का वास है,जागर सम्राट ने अपने इस जागर गीत की शुरुआत पंचतत्वों के आह्वान से की तो चारधामों,पंचप्रयाग,पंचपरमेश्वर सहित 33 कोटि के देवी देवताओं को जाग्रत किया।

यह भी पढ़ें : फौजी ललित मोहन जोशी के स्वरों से सजा ‘बिन्दी मायादार बिन्दी ‘वीडियो गीत रिलीज़ !

माहेश्वरी जागर प्रभात बेला पर 4 बजे गाया जाता है,जब सभी देवी देवता गंगा स्नान लेते हैं,जिसके बाद सूर्य नारायण का उदय होता है और देवी देवताओं की दिया बाती घर घर में लगती है।उत्तराखंड को ऐसे ही देवभूमि नहीं कहा जाता पुरातन समय में इस भूमि पर कई देवी देवताओं ने निवास किया जिसके साक्ष्य आज भी विद्यमान हैं,इसी धरती पर भगवान् शिव एवं पार्वती ने त्रियुगीनारायण में विवाह किया,इसी देवभूमि के पवित्र धाम में सृष्टि के पालक भगवान् विष्णु बद्रीधाम में निवास करते हैं।

यह भी पढ़ें : बाबू सोना ने किया बेड़ागर्क,संजय भंडारी ने रचा एक और युवाओं की पसंद का मॉडर्न गीत !

पुराणों के अनुसार जहाँ जहाँ माता सति के अंश गिरे वहाँ माता के सिद्धपीठ स्थापित हुए,ये स्थान काफी पवित्र माने जाते हैं और माता अपने भक्तों को तुरंत फल देती हैं,उत्तराखंड में भी माता के कई शक्तिपीठ हैं इनका जिक्र जागर सम्राट ने कई बार अपने गीतों जागरों में भी किया है,माहेश्वरी जागर भी उत्तराखंड के देवी देवताओं की स्तुति करता है।

यह भी पढ़ें : छू हम पहाड़ी गीत मचा रहा धमाल,देवभूमि के हर कोने का युवाओं ने गीत में किया जिक्र !

माता चन्द्रबदनी,सुरकंडा,धारी देवी ,कुंजापुरी,ज्वाल्पा देवी सहित सभी देवी देवताओं की स्तुति जागर सम्राट ने माहेश्वरी जागर में की है,जागर सम्राट के जागर गीतों से उत्तराखंड के पौराणिक महत्व को समझा जा सकता है,जागर सम्राट ने इस जागर की रचना के साथ ही इसमें संगीत भी दिया है,ढोल सागर के ज्ञाता प्रीतम भरतवाण ने इसे ढोल की थाप से भी सजाया है,जिससे पूरी देवभूमि गूंजती है,वीडियो में राकेश कुमार,विजय सिलकोटि,सुषमा व्यास,राय सिंह रावत,ज्योति रावत नजर आए,कुंजापुरी मंदिर में फिल्माए गए जागर गीत को अंकित तिवारी ने कैमरे में कैद किया है,वीडियो निर्देशन एवं संपादन अरुण फरासी ने किया है।

यह भी पढ़ें : रजनीकांत सेमवाल की आवाज में रिलीज़ हुआ लोकगीत डांडु क्या फूल फुलला।सोमेश्वर महादेव के हुए दर्शन !

कुंजापुरी मंदिर के पुजारी राजेंद्र सिंह भंडारी ने वीडियो निर्माण में विशेष सहयोग दिया और कोरोना काल में देवी की पूजा अर्चना कर समस्त विश्व के कल्याण की कामना की।

jagar-samrat-pritam-bharatwan-will-soon-release-maheshwari-jagar-to-awake-the-gods-and-goddesses-of-uttarakhand

आप भी इस देव स्तुति आनंद लीजिए और पुण्य की प्राप्ति कीजिए।

https://youtu.be/V2bjfh73vLs

Facebook Comments