Breaking News
यनि प्यारी जलमभूमि PAVAN DEVPRAYG

यनि प्यारी जलमभूमि -पावन देवप्रयाग च.. गढ़वाली चित्रगीत का नई टिहरी में लोकार्पण

नई टिहरी स्थित एक होटल में यनि प्यारी जलमभूमि -पावन देवप्रयाग च.. गढ़वाली चित्रगीत का लोकार्पण कार्यक्रम गीत के कलाकारों द्वारा संयुक्त रूप से किया गया।
यह गीत P.B. FILM’S PRODUCTION के यूट्यूब चैनल पर रिलीज़ हुआ है जिसमे अनेक धार्मिक व् ऐतिहासिक स्थलों के महत्व को दर्शाते हुए बहुत ही खूबसूरत फिल्मांकन किया गया है।
देवभूमि उत्तराखंड के पंच प्रयागों में देवप्रयाग को बहुत पावन प्रयाग माना गया है यहाँ पर भागीरथी और अलकनंदा के संगम से ही गंगा का उद्धगम होता है..
प्रभु श्री राम ने भी रावण वध के बाद यहाँ पर तप/स्नान किया था, यहाँ पर रघुनाथ मंदिर भी है देवप्रयाग पौड़ी और टिहरी गढ़वाल के दो जिलों का भी संगम है

 

अन्य जानकारी के लिए पढ़ते रहिए हमारी हर खबर उत्तराखंड संगीत जगत की

जिकुड़ी मा पड़ी जांद माया की छलार (तरुणी आंछरी गीत”)

यनि प्यारी जलमभूमि -पावन देवप्रयाग च गीत में दर्शकों को टिहरी गढ़वाल के अन्य पौराणिक स्थलों का भी वर्णन है जिसमे मलेथा के वीर माधो सिंह भंडारी , कीर्तिनगर में राजशाही के विरुद्ध शहीद हुए मोलू भरदारी -नागेंद्र सकलानी ,घंटाकर्ण देव ,चन्द्रबदनी मंदिर का भी उल्लेख है। वीडियो में ड्रोन से लिए गए दृश्य दर्शकों को अपंनी तरफ जरूर आकर्षित करेंगे।
गीत के लेखक व् निर्देशक प्रदीप भंडारी हैं। गीत में पदम् गुसाईं के साथ प्रेरणा भंडारी ने स्वर दिए है संगीत में सुमित गुसाई तथा कैमरा एवं नृत्य निर्देशन अरुण फरासी ने किया है संपादन नागेंद्र प्रसाद द्वारा किया गया है
सहकलाकारों में नागेंद्र प्रसाद ,अभिषेक ,अमित ,नीरज ,अन्नू ,कुशुम,शालनी ने काम किया है।
लोकार्पण समारोह में साहित्यकार महिपाल नेगी ,समाजसेवी सुशील बहुगुणा, लोककवि हरि प्रसाद सकलानी (सरल) , अभिनेता /गायक पदम् गुसाई, अरुण फ़रासी समेत अन्य लोग मौजूद थे

 

 

Facebook Comments

About Hillywood Desk

Check Also

इंदर आर्य ने पहली बार गढ़वाली गीत काजल कु टिक्कू के जरिए बिखेरा मधुर आवाज का जादू।

इंदर आर्य ने पहली बार गढ़वाली गीत काजल कु टिक्कू के जरिए बिखेरा मधुर आवाज का जादू।

उत्तराखंड संगीत जगत में आए दिन नए गीतों की धूम मच रही है. हाल ही …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: