उत्तराखंड में छा रही ”कुमाउँनी घेचेक” की आमा

0
664

Kumauni Ghachake

उत्तराखंड में हुनर और हुनरबाज़ो की कोई कमी नहीं है| आये दिन आपको कुछ न कुछ नया मिलता ही मिलता है| उत्तराखंड एक पहाड़ी क्षेत्र है जहा पर गढ़वाली, कुमाउनी लोग ज्यादा रहते है, ज्यादातर हमे गढ़वाली हुनर कहे या गढ़वाली गीत – संगीत ही देखने को मिलते है| लेकिन इसका ये मतलब बिलकुल भी नहीं है की कुमाउनी लोग किसी से कम होते है |

Kumauni Ghachake

एक बार फिर से कृष्णा बनेंगे नीतीश भारद्वाज, ‘महाभारत’ में निभाया था श्री कृष्ण का किरदार

कुमाऊं में भी ऐसे हुनरबाज़ है जो अक्सर अपने कुमाउनी हुनर को सबके सामने लाते है | जहां कुछ लोग अपनी बोली भाषा को बोलने में हिचकिचाते है वहीं दूसरी तरफ कुछ ऐसे भी लोग है जो सिर्फ अपनी बोली भाषा से प्यार नहीं बल्कि सबके सामने लाने का कोई मौका नहीं छोड़ते, और जब बात आये कुमाउनी आमा की तो हम कैसे उस कलाकर के बारे में भूल जाये जो आजकल सबके दिलो में अपनी जगह बना चुके है | एक ऐसे कलाकार के बारे में हम आपको बता रहे है जो अभी कुछ समय से यूट्यूब पे एक कुमाउनी घेचेक बहुत धमाल मचा रहे है और सबके दिलो में छा रहे है |

हेमा नेगी करासी का नया गीत ”मेरी अंजू”

जी हाँ ,हम बात कर रहे है”कुमाउँनी घेचेक” के बारे में जो आजकल कुमाउनी दर्शको के दिलो में राज़ कर रही है |आपको बता दें की घेचेक एक कुमाउनी शब्द है जिसका मतलब होता है झटका | और यह चैनल भी एक झटके की तरह है उन लोगो के लिए जो अपनी बोली को बोलने में शर्माते है, और इस चैनल में एक ऐसा किरदार जो सबसे ज्यादा पसंद किया जा रहा है वो है आमा का किरदार जो की पूरी सीरीज की जान है और पूरी सीरीज को मजेदार बना देता है। आपको बता दे कि कुमाउनी में आमा का मतलब दादी माँ होता है और इस किरदार को निभाने वाला एक लड़का है जिसका नाम करन लोहानी है |

‘‘भानिवाला की लवी’’ ने लगायी लोगों के दिलों में आग, यूजर बोले – ‘पहाड़ी गायकों की कलम भी पलायन करने लगी’

करन मूलरूप से हल्द्वानी के रहने वाले है तथा अपनी स्कूली शिक्षा भी उन्होंने हल्द्वानी के सेक्रेड हार्ट स्कूल से की | पढ़ाई पूरी करने के बाद करन ने होटल मनेजमेंट किया | करन कहते हैं की वीडियोस बनाने का उन्होंने कभी सोचा नहीं था, और वाकई में उन्होंने कभी सोचा नहीं होगा की अपनी बोली में वीडियोस बनाने के बाद वो इतने ज्यादा फेमस हो जायेगे। जब किसी काम की शुरुआत करो तो मुश्किलों का सामना तो करना ही पड़ता है |ऐसी बहुत सी मुश्किलों का सामना करन ने भी किया। करन कहते हैं की जब उन्होंने विडिओस की शुरआत की तो उन्हें ज्यादा कोई सपोर्ट नहीं करता था बल्कि हर कोई मजाक भी बना देते थे। साथ कहते है की उनको पहले पता नहीं था की इस जगत में कैसे क्या करना है न ही साथ में कोई ज्यादा टीम थी |

Hillywood latest updates : रूहान भारद्वाज पर फिर उठे सवाल, देखे ये रिपोर्ट

करन कहते है की जब उन्होंने शुरआत की तो उनके साथ सिर्फ श्वेता और उनकी माँ थी जिन्होंने करन का हमेशा साथ दिया | करन ने कुमाऊं की संस्कृति को आगे लाने में कोई कसर नहीं छोड़ी उन्होंने कुमाउनी घेचेक नाम से यूट्यूब चैनल बनाया जिसमे उन्होंने आमा के किरदार को सबसे रूबरू करवाया और यही कारण है की जिस आमा के किरदार की सब मजाक बनाया करते थे उसी किरदार ने करन को कुमाऊं की प्रसिद्ध अनमोल प्रोडक्शन ने उन्हें वेब सीरीज पहाड़ी घेचेक में काम करने का मौका दिया | आज करन व उनका किरदार दोनों का नाम हर जगह बना हुआ है और अब उनके पास एक टीम भी है|

Ranu mandal viral news:’तेरी मेरी कहानी’ गाने के लिए कितने रूपये मिले रानू मंडल को, जानकर आप भी हो जाएंगे शॉक्ड

करन कहते है की उनकी विडिओस की स्क्रिप्ट श्वेता और विक्की रॉय लिखते है साथ ही उनकी टीम में नामित खाती, श्वेता और विक्की रॉय है | करन लोहानी का कहना है की उनका मकसद उत्तराखंड को फिल्म / संगीत (हिलीवुड) जगत में आगे ले जाना है | जो की वो कर भी रहे है | यह बहुत बड़ी बात है की युवा जो की पढ़ाई लिखाई का बहाना बनाकर शहरो की तरफ निकल पड़ते है या अपनी बोली को बोलने में शर्माते है| वही कुछ युवा इन जैसे भी है जो न सिर्फ अपनी बोली को बचाने के लिए काम कर रहे है साथ ही बाकि लोगो को भी प्रेरित करते है अपनी बोली को अमूल्य बनाने के लिए |

आप भी देखे कुमाउँनी घेचेक और आमा को |

सीमा रावत की रिपोर्ट

Facebook Comments