जानिये सूर्यपाल श्रीवाण बारे में कुछ अनसुनी बाते। पूरी बायोग्राफी।

0
267
Suryapal Shrivan

Suryapal Shriwan is an Indian artist, singer, song writer, and folk singer from Tehri Garhwal, who born on 1st December 1992. His song “Pink Plazo” was one of the hit Garhwali song ever.

जरा आप कल्पना कीजिये कि आप सिर्फ 6 महीने के हो और आपके सिर से आपकी माता का साया उठ जाये तो शायद ही इससे बुरी किस्मत किसी भी प्राणी की हो सकती हो। परन्तु जब ऊपर वाला आपसे कुछ छीनता है तो उसकी भरपाई भी जरूर करता है। सिर्फ जरुरत है धैर्य और मेहनत की। जब सूर्यपाल श्रीवाण का जन्म हुआ तो माता का साया पैदा होने के 6 महीने में ही उठ गया।
पिता जी ने किसी तरह खुद को और इस दुधमुहे बच्चे को सम्हाले की भरपूर कोशिश की परन्तु पेशे से शिक्षक होने के नाते उन्हें अपनी नौकरी भी चालू रखनी थी जिससे उनका घर चलता था। सभी के समझाने पर पिता दूसरी शादी के लिए राज़ी हो गए। और कुदरती सौतेली माँ भी इतनी अच्छी मिली कि उसने इस दुधमुहे बच्चे का लालन पालन अपने सगे बालक की तरह किया।

Name Suryapal Shriwan
DOB 01 /12/1992
Age 30
Village Hadiyana Malla, Ghanshali,Tehri Garhwal
Father Teacher
Mother Late Mrs Ahilya Devi
Highest Qualification Graduate
School Govt Inter College Samendidhar, Tehri Garhwal
College Shridev Suman University
Income NA
Occupation Folk Singer, & Pharmacist
Sibling 2 sisters & 1 Brother (Younger)
Height 5’2”
Weight 56 Kg
Hair Color Light brown
Eyes Color Brown
Sex Male
Complexion Fair
Relationship Status Married
Wife Name & Occupation Mrs Reshma Shriwan, Music Teacher
Kids 1 daughter

इसी लिए आज सूर्यपाल श्रीवाण बताते है कि आज मैं जोभि हूँ उसका श्रेय मेरे माता पिता जी को जाता है। और इसमें मेरी धर्मपत्नी का भी उतना ही सहयोग रहा कि वो मुझे आज हर कदम पर सपोर्ट करती है।

जानिए आज किया करते है अपने पहले ही गाने से धूम मचाने वाले सूर्यपाल श्रीवाण ?

ये नाम तो शायद आपने सुना होगा पर आपने उन्हें शायद ही कभी लाइम लाइट में देखा हो। स्वाभाव से बहुत ही शर्मीले और पारिवारिक है सूर्यपाल।

Suryapal Shrivan

सूर्यपाल श्रीवाण का जन्म एवं परिवार

सूर्यपाल श्रीवाण का जन्म 1 दिसम्बर 1992 को टिहरी जनपद के अन्तर्गत भिलंगना ब्लॉक के एक छोटे से गाँव हडियाना मल्ला जो घनसाली तहसील में पड़ता हैं में हुआ।
पिता जी पेशे से एक शिक्षक है जबकि माता जी स्वर्गीय श्रीमती अहिल्या देवी जी सूर्यपाल को 6 महीने का छोड़कर स्वर्ग सिधार गयी थी।

यह भी पढ़ें: पापा की परी’ गीत के पहाड़ी वर्जन ने बनाया रिकॉर्ड, व्यूज देख हैरान रह जाएंगे आप

पिता जी ने परिवार को चलाने के लिए और बच्चे की देखभाल के लिए दूसरी शादी कर ली थी। जिनसे उनकी 2 बहिने और एक छोटा भाई है।
फिलहाल वे अभी अपनी धर्मपत्नी श्रीमती रेशमा श्रीवाण एवं बिटिया आस्वी श्रीवाण के साथ देहरादून में रहते है।
उनकी धर्मपत्नी भी संगीत के फील्ड से ही है और उन्होंने संगीत में विशारद किया हुआ है। दोनों के मिलाने का किस्सा भी बड़ा ही दिलचस्प रहा।

Singer Suryapal Shriwan

Hobbies Singing, playing cricket, & chess
Favorite Singer Udit Narayan, & Kumar Shanu
Favorite Actor or Actress Akshay Kumar
Favorite Game Cricket
Favorite Destination Uttarakhand
Favorite Food Indian

 

शर्मीले स्वभाव के सूर्यपाल श्रीवाण ने जब पहली बार उन्हें एक कार्यकर्म में देखा तो पहली ही झलक में उन्हें रेशमा से प्रेम हो गया था परन्तु बहुत हिम्मत करके उन्होंने अपने दिल की बात को रेशमा तक रखा और फिर किया था मन ही मन रेशमा भी उन्हें प्रेम करने लगी और दोनों जल्द ही एक दूसरे से विवाह के बन्धन में बंध गए और आज दोनों एक खुशहाल वैवाहिक जीवन व्यतीत कर रहे है।

सूर्यपाल श्रीवाण की शिक्षा

सूर्यपाल श्रीवाण बचपन से एक मेधावी छात्र रहे है उनकी प्राथमिक शिक्षा गाँव के ही उच्चतर माध्यमिक विद्यालय धमातोली से हुआ फिर उन्होंने राजकीय इण्टर कॉलेज समंडीधार से बारहवी उत्तीर्ण करने के पश्च्यात देहरादून स्थित सिदार्थ इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मेसी से फार्मेसी में डिप्लोमा और फिर श्रीदेव सुमन यूनिवर्सिटी से स्नातक की उपाधि हासिल की।

सूर्यपाल श्रीवाण नौकरी पेशा

कॉलेज करने के पश्च्यात उन्होंने सिदार्थ इंस्टिट्यूट ऑफ़ फार्मेसी में बतौर फार्मेसिस्ट जॉब कर रहे है।

यह भी पढ़ें: संजू को आई दीक्षा की लस कमरी पसंद, आगे पीछे मड़राते आए सिलोड़ी

बचपन से ही गायिकी को शौक रखने वाले सूर्यपाल रामलीला के मण्डपों से गाना गाया करते थे और उनको दर्शको द्वारा खूब सराहा जाता था। बस यही कारण था कि सूर्यपाल श्रीवान बड़े होकर एक गायक बनना चाहते थे उनकी ये चाह 2012 में पूरी हुई।

सूर्यपाल श्रीवाण का रामलीला के मंचों से अब तक का सफर

जब उनकी पहली एल्बम गैल्या बिच्छूमा रिलीज हुई थी तो गढ़वाल क्षेत्र में ऐसी कोई शादी और पार्टी नहीं थी जहा डी जे से ये गाना न बजाया जाता हो।

Suryapal Shriwan Family

यह भी पढ़ें: सौरव मैठाणी और मेघना की आवाज का चला जादू, लाखों में बटोरे जा रहे व्यूज

फिर क्या था उत्तराखण्ड म्यूजिक इंडस्ट्री में एक नया चेहरा सूर्यपाल श्रीवाण के नाम से चमक पड़ा। फिर उसके बाद उनके “पुरबा” गीत ने तो उत्तराखंडी संगीत जगत में कई रिकॉर्ड ही बना डाले ये पहला ऐसा गीत था जिसको बहुत ही कम समय में यूट्यूब पर मिलियन व्यूज बटोरे थे।

First Debut Song Gailya Bichuma in 2012
Most Popular Song Pink Plazo
First Singing Partner Meena Rana ji
Name of Your First Employer Siddharth Institute of Pharmacy
Your Favorite Car Thar
Your Favorite Bike KTM
Your Favorite City & Why? Dehradun because there are many places where we go and enjoy

 

यह भी पढ़ें: राम कौशल की आवाज रिलीज हुआ नया गीत Birma Banthina, दर्शकों पर चला जादू

उसके बाद सूर्यपाल श्रीवान ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और आज उन्होंने एक से बढ़कर एक सुपरहिट गढ़वाली गीत गाये। जिसमे से “पिंक पलाज़ो” एक सुपर डुपर हिट गीत रहा है।

Suryapal Shriwan Photo

सूर्यपाल श्रीवाण के गाने

  1. Pink Plazo
  2. Purba
  3. Eye Shadow
  4. Bhamu Dey
  5. Mala Jogni
  6. Rathi Chhal
  7. Dhaguli
  8. Damru Baajige
  9. Birma
  10. Gailya Bichuma

सूर्यपाल श्रीवाण के सोशल मीडिया लिंक्स

Facebook | YouTube | Instagram