Sushant Singh Rajput के निधन के बाद Israel ने दी श्रद्धांजलि, क्या था कनेक्शन

2
609
Sushant Singh Rajput के निधन के बाद Israel ने दी श्रद्धांजलि, क्या था कनेक्शन
file photo

आज पूरी दुनिया सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput) के निधन का शोक मना रही है। महज 34 साल की उम्र इस तरीके उनका दुनिया को छोड़कर चले जाना फैंस से लेकर आम आदमी तक को पसंद नहीं आ रहा है। यह ग़म भारत के साथ-साथ पूरी दुनिया में नज़र आ रहा है। सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) को विदेशी यूनिवर्सिटी भी याद कर रही हैं। और अब इस मामले में इजराइल भी शामिल हो गया है।सुशांत सिंह राजपूत के लिए इजराइल से भी एक ख़ास संदेश आया है। इस सदेंश में इजराइल ने सुशांत को श्रृद्धांजलि देते हुए उन्हें इजराइल का सच्चा मित्र बताया गया है।

Sushant Singh Rajput के निधन के बाद Israel ने दी श्रद्धांजलि, क्या था कनेक्शन
Source: Twitter Sushant Singh Rajput

यह भी पढ़े: Sushant Singh Rajput: Kriti Senon ने ट्रोलर्स को मुंहतोड़ जवाब दिया।

दरअसल, पुरे इजराइल की तरफ से विदेश मंत्रालय के जनरल और डिप्टी डायरेक्टर Gilad Cohen ने एक ट्वीट के जरिए अपना दुख जताया। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘मैं सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के निधन पर संवेदना व्यक्त करता हूं। वो इजराइल के सच्चे दोस्त थे। Gilad Cohen आगे लिखते है, आपकी बहुत याद आएगी। जब वो इजराइल आए थे, तब कुछ ऐसा हुआ था।’ और ख़ास बात है कि इस ट्वीट का साथ Gilad Cohen ने एक वीडियो पोस्ट का लिंक भी दिया है।

यह भी पढ़े: Sushant Singh Rajput सुसाइड केस में अपना नाम देखकर भड़कीं एकता कपूर

बता दें सुशांत सिंह राजपूत की एक फ़िल्म है ड्राइव। इसमें वह जैकलीन फर्नांडिस के साथ अभिनय करते नज़र आए थे। लेकिन बाद में बड़ी मशक्कत के बाद इस फ़िल्म को नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ किया गया था। इस फ़िल्म की शूटिंग के दौरान एक गाना ‘मखना’ की शूटिंग के लिए सुशांत और पूरी टीम इजराइल गई थी। Gilad Cohen ने अपने ट्वीट में इसी गाने का लिंक शेयर किया है।

यह भी पढ़े: Sushant Singh Rajput को लेकर डायरेक्टर का बड़ा खुलासा, एक्टिंग छोड़ना चाहते थे

सिर्फ इजराइल ही नहीं फ्रांस की एक यूनिवर्सटी ने भी सुशांत के निधन पर शोक मनाया। यूनिवर्सिटी ने अपनी वेबसाइट पर सुशांत को श्रद्धांजलि देते हुए लिखा था कि सुशांत ने समर 2019 में यूनिवर्सिटी के सेंट्रल कैंम्पस में आने का न्यौता स्वीकार कर लिया था, मगर दूसरे कामों में व्यस्त होने के कारण वे स्ट्रासबोर्ग की यात्रा नहीं कर सके। हमारी दुआएं हमेशा सुशांत सिंह राजपूत के परिवार और दोस्तों के साथ हैं। सुशांत की यादें हमेशा भारत और दुनिया में लोगों के दिलों में ताज़ा रहेंगी।

Facebook Comments