केंद्र सरकार की सहमती से जल्द ही देहरादून बनेगा ग्रीन सिटी

0
589

Green City Dehradun

अपना देहरादून शहर जल्द ही ग्रीन सिटी बनेगा। केंद्र सरकार ने देहरादून को ग्रीन सिटी बनाने की सैद्धांतिक स्वीकृति दे दी है। गांधीनगर के बाद देहरादून देश का दूसरा शहर होगा जिसे ग्रीन सिटी के रूप में विकसित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री आवास स्थित जनता मिलन हॉल में बुधवार को ग्रिड कनेक्टेड रूफ टॉप सोलर फेज टू योजना का शुभारंभ करते हुए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि देहरादून को ग्रीन सिटी बनाने का निर्णय लिया गया है। केंद्र की मंजूरी के बाद अब इसका प्रस्ताव तैयार कर केंद्र को भेजा जाएगा। (Our Dehradun city will soon become a Green City. The central government has given in-principle approval to make Dehradun a green city. Dehradun will be the second city in the country after Gandhinagar to be developed as a Green City. Inaugurating the grid connected roof top solar phase to scheme on Wednesday at Janata Milan Hall at Chief Minister’s residence, Uttarakhand Chief Minister Trivendra Rawat said that it has been decided to make Dehradun a green city. After the approval of the center, its proposal will now be prepared and sent to the center.)

उत्तराखंड में मौसम ने किया लोगो को परेशान, कहीं बर्फ़बारी तो कहीं पानी

उन्होंने कहा देहरादून के पर्यावरण के लिए भी यह जरूरी है कि अधिक से अधिक संख्या में लोग ग्रीन एनर्जी का उत्पादन करें। इस दौरान पर्वतीय क्षेत्रों के लिए शुरू की गई पिरूल से बिजली बनाने और बंजर पड़ी भूमि पर प्रोजेक्ट लगाने की योजना का जिक्र करते हुए कहा कि इससे पहाड़ की पलायन की समस्या और आर्थिकी में बदलाव आएगा। त्रिवेंद्र ने कहा कि देहरादून का मौसम बेहद लुभावना है। इसीलिए बड़ी संख्या में पर्यटक दून आना पसंद करते हैं। उन्होंने कहा कि देहरादून आने वाले पर्यटकों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि देहरादून आने वाले पर्यटकों की संख्या में 2018 के मुकाबले 2019 में 36.50 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है।

Green City Dehradun

बिगबॉस बॉस 13 में सिद्धार्थ शुक्ला और शहनाज़ के बीच हुई तकर्रार

योजना के तहत सभी घरों में ग्रीन एनर्जी का उपयोग सुनिश्चित किया जाएगा। शहर की स्ट्रीट लाइटों को सौर ऊर्जा से चलाया जाएगा। साथ ही इलेक्ट्रिक वाहनों का उपयोग किया जाएगा। शहर के कूड़े-कचरे से भी बिजली पैदा की जाएगी। -त्रिवेंद्र सिंह रावत, मुख्यमंत्री, उत्तराखंड (Under the scheme, green energy will be ensured in all households. The city’s street lights will be powered by solar energy. Also electric vehicles will be used. Electricity will also be generated from the city’s garbage. -Trevendra Singh Rawat, Chief Minister, Uttarakhand)

Facebook Comments