Ghanna Bhai Election Video : चुनाव हारने के बाद कैसे होते हैं नेता जी के हाल देखें इस वीडियो में

0
611

Ghanna Bhai Election Video : चुनाव के दौरान आपने देखा होगा कि अक्सर राजनेता जब चुनाव लड़ते हैं तो वे वोट मांगने के लिए लोगों की दहलीजों पर झुक झुक कर वोट मांगते हैं और लोगों की समस्याओं को हल करने का बड़े बड़े दावे करते हैं और विकास करने की बात करते हैं लेकिन जैसे ही वह चुनाव जीत जाते हैं तो अपने द्वारा किये गये वादों को भूल जाते हैं। अक्सर आपने देखा होगा चुनाव के दौरान उम्मीदवार कई पैसे खर्च करते हैं तथा कई उम्मीदवार पैसा बिछाने के बावजूद भी धोखधड़ी का शिकार बन जाते हैं और चुनाव हार जाते हैं। ऐसा ही कुछ देखने को मिला जालीसैंण से उठे 2007 के विधानसभा चुनाव के एक प्रत्याशी के केस में। Ghanna Bhai Election Video

मंजू सुन्दरियाल का ‘रस्याण’ कवर गीत नहीं चला पा रहा दर्शकों पर अपना जादू, पढ़े ये रिपोर्ट

आपको बता दें कि उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2007 भारत के उत्तराखण्ड राज्य में हुआ जो कि दूसरा विधानसभा चुनाव था इससे पहले वर्ष 2002 में राज्य में प्रथम विधानसभा चुनाव हुआ था तथा दूसरा विधानसभा चुनाव 21 फरवरी 2007 को हुआ था और मतगणना 27 फरवरी 2007 को हुई थी। उसी दौरान जालीसैंण से एक उम्मीदवार उठे थे जिन्हें कि हार का सामना करना पड़ा था। आपको बता दें कि जालीसैंण से एक सीट पर 16 उम्मीदवार उठे थे जिसमें से इनको मात्र 400 ही वोट मिल पाये थे।

MS Dhoni Retirement News Update : धौनी नहीं ले रहे संन्यास : बीसीसीआई

इसी राजनीति के ऊपर एक वीडियो गीत बनाया गया जिसमें तत्कालीन उम्मीदवार का किरदार उत्तराखण्ड के प्रसिद्ध काॅमेडियन घन्ना भाई ने बखूब ही निभाया तथा वीडियो में धर्मेन्द्र चौहान ने घन्ना भाई का पूरा साथ दिया है। इस विडियो गीत में नेता जी (उम्मीदवार) के आपबीती का वर्णन किया गया है जिसमें नेता जी चुनाव के दौरान का जिक्र करते हुए कहते हैं कि ‘‘मेरे अन्दर नेता जी का कीड़ा ऐसा पनपा कि मैनें मन में ठान लिया कि मैं इस बार चुनाव लडूंगा क्योंकि मेरी भी अकड़ थी और हाई फाई पकड़ थी। इसी सोच के चलते मैं जालीसैंण का उम्मीदवार बन गया। क्योंकि मुझे भी विधानसभा में कुर्सी चाहिए थी और उस समय छोटी बड़ी सभी पार्टियों में घपरोल चल रहा था। जहां पर कई वोटो को लेकर लड़ाईयां भी चल रही थी और पार्टियों में अन्दर ही अन्दर वोटों का सौदा हो रहा था क्योंकि ये राजनीति का मामला जो है। साथ ही वो आगे कहते हैं कि मेरे साथ जो कार्यकर्ता रहे हैं उन्होंने मेरे पैसों से मजे लिये और मुझे ही भूल गये। वो शराब और मांस मेरे पैसों से खाते थे लेकिन अन्दर ही अन्दर प्रचार किसी और पार्टी का करते थे। ईमानदार प्रत्याशी किसी ने नहीं देखा और जाति क्षेत्रवाद में ही सारी वोटें बंट गयी। पता नहीं ऐसी कौन सी बात हो गयी की रात ही रात पासा ही पलट गया और मेरी सारी वोटें कट गयी और मुझे पता ही नहीं था कि मेरे खिलाफ साजिशें रची गयी और जब मतगणना हुयी तो मात्र गिनचुन कर मुझे 400 वोट ही मिली मेरे होश उड़ गये और मेरे अगल बगल कोई नजर ही नहीं आये। मेरे साथ इतनी बड़ी धोखधड़ी हुयी कि मुझे लोगों को अपना चेहरा दिखाने में शर्म आ रही थी।’’

सलमान खान निकले चार कदम आगे,बॉटल कैप चैलेंज में दिखा नया अंदाज,फैंस को दिया ये जरूरी संदेश

कुल मिलाकर देख लिया जाये तो ये वीडियो गीत चुनाव के दौरान की हकीकत को बयां करता है जिसे कि इंटरटैंनमैंन्ट के वास्ते बनाया गया है। इस गीत को गाया है दलबीर प्रसाद ने साथ ही उन्होंने गीत के बोल को भी अच्छे से संजोया है और अरविन्द नेगी के निर्देशन ने इस गीत में चार चांद लगा दिये। पब्लिक को भी यह गाना काफी पसंद आया है। अगर आप भी इस वीडियो का आनन्द लेना चाहते हैं तो वीडियो को यहां देख सकते हैं।

Facebook Comments