रजनीकांत सेमवाल की आवाज में रिलीज़ हुआ लोकगीत डांडु क्या फूल फुलला।सोमेश्वर महादेव के हुए दर्शन !

2
514

 उत्तराखंडी लोकगायक रजनीकांत सेमवाल ने लोकगीत ‘डांडु क्या फूल फुलला’  गीत को आवाज दी है,जिसका वीडियो रिलीज़ हो गया है,वीडियो में दर्शकों को माँ गंगा के उद्धगम स्थान एवं सोमेश्वर महादेव के दर्शन करने का अवसर मिलेगा। 

उत्तराखंड के लोकगीतों का अपना महत्त्व है,जिन गीतों को कभी पुरानी पीढ़ी विभिन्न अवसरों पर गाती थी,जो अब विलुप्ति की कगार पर हैं ,लेकिन जब रजनीकांत सेमवाल सरीके लोकगायक होंगे तो ये धरोहर विलुप्त कैसे हो सकती है,वसंत के आगमन और सोमेश्वर महादेव की स्तुति में गाया जाने वाला लोकगीत डांडु क्या फूल फुलला को रजनीकांत ने वीडियो का रूप दिया है।

यह भी पढ़ें : योगनगरी ऋषिकेश के अमन शाह India’s Best Dancer के मंच पर मचा रहे धमाल!

उत्तरकाशी की सभ्यता एवं संस्कृति की झलक दिखाता ये वीडियो गीत काफी शानदार नजर आ रहा है,अपना मूल भूल चुकी आज की युवा पीढ़ी को अपनी संस्कृति से जुड़ने का इससे अच्छा अवसर और क्या हो सकता है,दर्शकों को इस वीडियो में बहुत कुछ देखने को मिलेगा,सोमेश्वर महादेव के दर्शन एवं उत्तरकाशी जिले की खूबसूरती की भी झलक दिखेगी तो वहीँ शिल्पकला का भी शानदार उदाहरण सोमेश्वर मंदिर के दर्शन कर दिखेगा।वीडियो में रजनीकांत सेमवाल एवं जागृति कोठारी ने मुख्य भूमिका निभाई।

यह भी पढ़ें : सुरेंद्र सत्यार्थी एवं मीना राणा की आवाज में रुकमा प्यारी गीत रिलीज़ !गीत संगीत की दर्शक कर रहे तारीफ़ !

रजनीकांत सेमवाल ने इस लोकगीत को आवाज दी है इसे संगीत से रणजीत सिंह ने सजाया है ,किसी भी वीडियो के बनने के पीछे कई सारे लोगों की मेहनत होती है जिसका हमें दर्शक होने के नाते सम्मान करना चाहिए,इस लोकगीत को बनाने में भी कई लोगों की मेहनत का फल स्क्रीन पर नजर आया,इसमें सिनेमटोग्राफी का काम शुभम कैंतुरा,एवं अजय गोनियाल ने किया है,प्रोडक्शन मैनेजमेंट अब्बू रावत का रहा,सोहन चौहान एवं रजनीकांत सेमवाल ने वीडियो निर्देशन का कार्य किया है,वीडियो का बेहतरीन संपादन गोविन्द नेगी द्वारा किया गया।वीडियो निर्माण क्रिएटिव बुड़बक ने किया है।

यह भी पढ़ें : पूजा भंडारी की घुंगुटी प्रोमो में ही हिट !घुंघुटी से अनजान हो तो पढ़िए ये ख़ास रिपोर्ट!

उत्तरकाशी जिला उत्तराखंड का वो जिला है जहाँ राज्य के दो धाम गंगोत्री एवं यमुनोत्री हैं,माँ गंगा एवं यमुना का उद्धगम स्थल यही पर है जो इस स्थान को और भी पवित्र बनाता है,उत्तरकाशी की शानदार सभ्यता की झलकियां वीडियो में देखने को मिली,पारम्परिक परिधानों में महिलाओं एवं पुरुषों का झुमेला वीडियो को शानदार बनाता है,रजनीकान्त सेमवाल ने इस गीत को आवाज दी ही है साथ ही वीडियो में सोमेश्वर महादेव के पुरोहित का दायित्व भी निभाते दिखे और भक्तों की अर्जी भी सोमेश्वर देव तक पहुंचाते दिखे,ऐसी वीडियो उत्तराखंड के गौरव को बढाती हैं।ये गीत बसंत के आगमन पर खिलने वाले विभिन प्रकार के फूलों को सोमेश्वर महादेव को चढाने पर आधारित है ,साथ ही गंगा माँ के दर्शन करने की अभिलाषा लिए विवाहित नारियों का अपने मायके लौटने एवं अपने आराध्य देव के दर्शन की इच्छा दर्शाता है।

https://www.hillywoodnews.in/folk-song-dandu-…mahadev-appeared/

 

यह भी पढ़ें : छू हम पहाड़ी गीत मचा रहा धमाल,देवभूमि के हर कोने का युवाओं ने गीत में किया जिक्र !

आप भी देखिए उत्तराखंड के लोकगीत डांडु क्या फूल फुलला नए संगीत एवं रजनीकांत सेमवाल की आवाज में और गर्व कीजिए अपनी सभ्यता एवं संस्कृति पर।रजनी कांत सेमवाल ने इस गीत को श्री अघोरनाथ की कृपा से सोमेश्वर महादेव को समर्पित किया है। सोमेश्वर महादेव सब पर अपनी कृपा बनाए रखें।

Facebook Comments