फिल्म रिव्यू – कमजोर कहानी और अदाकारी है ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2’

0
175

जिस फिल्म का आप लोग बड़ी बेस्रबी से इंतजार कर रहे थे, वह रिलीज हो गई है। जी हां, धर्मा प्रोड्क्शन के बैनर तले बनी फिल्म स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2 आज सिनेमाघरों में लग गई है। टाइगर श्रॉफ हीरो है, इन्हें तो आप जानते ही होंगे लेकिन दो नई अभिनेत्री अनन्या पांडे और तारा सुतालिया इस फिल्म से फिल्मी जगत में कदम रखने जा रही हैं।
इस फिल्म की 70 फीसदी शूटिंग देहरादून, मसूरी, ऋषिकेश में हुई है और इसमें देहरादून के कई स्थानीय कलाकार भी आपको देखने को मिलेंगे। इसलिए तो देहरादून वाले इस फिल्म को देखने के लिए बेताब है।
अब बात करते हैं कि आपको फिल्म देखनी चाहिए या नहीं। अगर आपने स्टूडेंट ऑफ द ईयर देखी है तो आपको ये फिल्म देखनी की जरूरत नहीं है। दोनों की कहानी कोई खास अंतर नहीं है। फिल्म की ना तो कहानी दमदार है और ना ही डायरेक्शन।
‘शुभमंगल ज्यादा सावधान’ में गे की भूमिका निभाएंगे आयुष्मान खुराना

क्या है कहानी
ये कहानी एक त्रिकोणीय प्रेम कहानी पर आधारित है। देहरादून में पढ़ने वाला रोहन खेलता है, नाचता है, गाता है, उछलता है, सिर्फ पढ़ाई नहीं करता है। वह मिया यानी तारा सुतालिया से प्यार करता है लेकिन फिर उसे श्रेया यानि अनन्या पांडे से प्यार हो जाता है। अब रोहन मिया का होगा या श्रेया का… ये जानने के लिए आप सिनेमाघर में जा सकते हैं या फिर कुछ दिन इंतजार कर लीजिए. आपको खुदबखुद पता चल जाएगा।
फिल्म का डायरेक्शन और संगीत
स्टूडेंट ऑफ द ईयर करण जौहर ने खुद डायरेक्ट की थी लेकिन इसका सीक्वल पुनीत मल्होत्रा ने किया है। वैसे तो डायरेक्शन ठीक – ठाक है लेकिन यह और भी बेहतर हो सकता था।
संगीत विशाल शेखर और सलीम ने दिया है। बैकग्राउंड म्यूजिक अच्छा है। संगीत सुनने में अच्छा लगता है लेकिन यादगार नहीं है।

फिल्म की अच्छी बातें

– अनन्या पांडे की परफॉरमेंस अच्छी है।
-कुछ पंचलाइन अच्छी है।
-कुछ द्दश्य मनोरंजन करते हैं।
आखिर क्या बला है ये मेट गाला, जहां अजीबोगरीब कपड़े पहन कर जाते हैं लोग


फिल्म की खराब बातें

-कहानी कमजोर और बेमकसद है।
-तारा सुतालिया और टाइगर श्रॉफ कुछ खास प्रभावित नहीं कर पाएं।
-फिल्म बहुत बड़ी है और कभी – कभी बोर भी करती है।

तो अगर आप इस फिल्म को देखने जा रहे हैं तो सोच – समझ कर जाएं। वैसे टीवी पर आने का इंतजार किया जा सकता है।

Facebook Comments