उफतारा का संस्कृति मंत्री महाराज को ज्ञापन, कलाकारों का मानदेय बढ़ाने और और तबादला नीति उलंघन्न पर मिला आश्वासन

0
168

हिलीवुड लाइव

उत्तराखंड संस्कृति विभाग पर लग रहे लगातार आरोपों के बीच उत्तराखंड फिल्म, टेलीविजन एंड रेडिओ एसोसिएशन (उफ्तारा) ने सूबे के संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज को छह सूत्रीय ज्ञापन सौंपा है, ज्ञापन में मुख्य रूप से लोक कलाकारों का मानदेय बढ़ाने और संस्कृति विभाग में लगातार कई सालो से एक ही पद पर कुण्डी मारे अधिकारियौं का तबादला करने का मुद्दा है| इस पर महाराज ने जल्द ही निर्णय लेने का आस्वाशन दिया है |

प्रदीप भंडारी की फेसबुक वाल से :

आपको बता दें कि उत्तराखंड सरकार की तबादला नीति का संस्कृति विभाग में जमकर उल्लंघन किया जा रहा है, नीति के हिसाब से एक अधिकारी को ३ साल से ज्यादा एक ही जगह पर नहीं रखा जाएगा लेकिन संस्कृति विभाग में कई सालों से अधिकारी टस से मस नही हुए हैं | इससे सरकार की घोर लापरवाही न कहा जाय तो क्या कहें| उफतारा लगातार कलाकारों के हितों के लिये सड़क पर भी संघर्ष करती नज़र आयी है, लोक कलाकारों का मानदेय 400 से 1000 रुपये करने की मांग की गयी है |

उफ्तारा अध्यक्ष भड़के उत्तराखंड सरकार पर

आपको याद दिला दें कि हिलीवुड न्यूज़ शो में प्रशिद्ध गायक किशन महिपाल ने संस्कृति विभाग पर गंभीर आरोप लगाये थे जिसके बाद सोशल मीडिया में लोगो ने संकृति विभाग को खरी खोटी सुनाकर अपना गुस्सा सरकार के खिलाफ् जाहिर किया था | तबसे लगातार लोक गायक कलाकार सामने आ रहे हैं|

उत्तराखंड फिल्म टेलीविजन और रेडियो एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रदीप भंडारी से जब हमने दूरभाष पर इस बाबत संपर्क किया तो उन्होंने बताया की यदि २5 अक्टूबर तक सरकार ने छह सूत्रीय मांगे नहीं मानी तो राज्य स्थापना दिवस ४ नवंबर २०१९ को राजधानी में बड़े आन्दोलन की चेतावनी ज्ञापन के माध्यम से दी गयी है| ज्ञापन देने वालों अध्यक्ष प्रदीप भंडारी के साथ पूर्व अध्यक्ष चंद्रवीर गायत्री, उपाध्यक्ष गंभीर जयाड़ा, महासचिव अमरदेव गोदियाल शामिल थे |

Facebook Comments