कोरोना के चलते ज़रूरतमंद कलाकारों की मदद करने के लिए सामने आए उत्तराखण्डी लोक गायिका कल्पना चौहान और राजेंद्र चौहान

0
634
Corona came forward to help needy artists

उत्तराखण्ड के लोक गायिका कल्पना चौहान (Kalpana Chauhan) और राजेंद्र चौहान (Rajendra Chauhan) ने कोरोना की इस संकट घडी में अपने सहयोगियों के साथ मिलकर 200 से ज़्यादा ज़रूरतमंद कलाकारों की आर्थिक सहायता करने का सराहनीय कदम उठाया है।

कोरोना के चलते सारा काम ठप पड़ा हुआ है। कोरोना की मार उत्तराखण्ड के लोक कलाकारों पर भी भारी पड़ रही है। क्योंकि मार्च से सांस्कृतिक आयोजन बंद पड़े है और कोरोना के बिगड़ते हालातों को देखकर फिलहाल आशा की कोई किरण नज़र नहीं आ रही है। ऐसे में रोज़मर्रा की ज़िन्दगी में काम करने वाले कलाकारों की मदद हेतु उत्तराखण्ड के लोक गायक कल्पना एवं राजेंद्र चौहान सामने आए है।

यह भी पढ़ेः Garhwali Video : जुल्मी संग आँख विडियो सोंग रिलीज़ आछरी के रोल में रूचि रावत की कमाल एक्टिंग

सोशल मीडिया के ज़रिये कल्पना एवं राजेंद्र चौहान ज़रूरतमंद कलाकारों के बारे में बात करते हुए उनकी मदद के लिए सामने आये है वीडियो में सबसे पहले कल्पना चौहान इस बारे में बात करते हुए कहती है कि “मार्च से सभी कार्यक्रम बंद पड़े है और कब शुरू होंगे इसकी कोई उम्मीद नहीं है। वास्तविकता ज़रूरतमंद कलाकारों के सामने जीवन यापन का एक बहुत बड़ा संकट है। इसलिए मैं आप सभी लोगों से अनुरोध करना चाहती हूँ कि आओ हम सब मिलकर लोक कलाकारों की सहायता करे ताकि हमारी बोली हमारी भाषा,हमारी संस्कृति बची रहे।

यह भी पढ़ेःGarhwali Film Baini बैंणी | Actor Director | Nagendra Prasad | Hillywood News

वीडियो में आगे राजेंद्र चौहान ने भी ज़रूरतमंद कलाकारों की पीड़ा को बताते हुए कहा कि साथियों हमने 200 ऐसे लोक कलाकारों की सूची बनाई है जो पर्दे के पीछे काम करते है कोई ढोलक बजाता है और तबला बजता है कोई बांसुरी आदि ये वो कलाकार है जिनके जीवन में वास्तविक संकट आया है ऐसे कलाकारों को हमने 3 मई के बाद घर-घर जाकर आर्थिक सहायता देने का निर्णय लिया है। हमारी इस मुहीम में अन्य लोग भी शामिल है जैसे श्री सुनील उनियाल जी, श्री गणेश चमोली,श्रीमती इंद्रा चौधरी ,मोहन सिंह नेगी, दीपक ध्यानी,नरेंद्र सेमवाल आदि।”

लोक गायिका #कल्पना चौहान ने उत्तराखंड के 200 से अधिक वास्तविक जरूरतमंद #लोक कलाकारों को आर्थिक सहायता देने का बीड़ा उठाया है* #कोरोना की मार लोक कलाकारों पर भी पड़ रही है #मार्च से सांस्कृतिक आयोजन बंद हैं और अभी आगे भी काफी समय तक कोई उम्मीद नजर नही आ रही है #ऐसे में रोजमर्रा के काम करने वाले कलाकारों के आगे जीवनयापन का संकट है #मानव जीवन का उद्देश्य है कि मन, वचन और काया से दुसरों की मदद करें #आओ हम सब मिलकर संकट की इस घड़ी में #मित्र श्रृंखला से जुड़ कर जरूरतमन्द परिवारों की सहायता के लिए आगे आयें

Posted by Rajendra Chauhan on Friday, April 24, 2020

कल्पना और राजेंद्र चौहान ने अन्य लोगों से भी इस मुहीम के साथ जुड़ने का आग्रह किया है.

Facebook Comments