Bedu Pako Uttarakhandi Song : उत्तराखण्ड का वो सदाबहार गीत जिसको विदेशी लोग आज भी गुनगुनाते है

0
670

Bedu Pako Uttarakhandi Song : उत्तराखण्ड का वो सदाबहार गीत जिसको विदेशी लोग आज भी गुनगुनाते है

मुंबई का फैशन और उत्तराखंड के गीतों का चर्चा आजकल पूरी दुनिया है। यूँ तो उत्तराखडं के बहुत सारे ऐसे गीत है जिनकी गूंज बाहर तक सुनाई देती है लेकिन उत्तराखडं का एक ऐसा गीत जिसको आज भी विदेशो में लोग गुनगुनाते है। एक ऐसा गीत जो हर पारम्परिक फंक्शन्स में सुनने को या फिर लोगों के द्वारा उस गीत में पारम्परिक नाच देखने को मिलता है। उस गीत का नाम है बेडू पाको बाढ़ा मासा इस गीत को लिखा बी.एल शाह और मोहन उप्रेती और गाया गोपाल बाबू गोस्वामी ने। यह गीत उत्तराखंडी लोगों की शान है और बहुत सारे लोगों को इस गीत के बारे में कही न कही यह गलतफहमी है की इस गीत के बोल है बेडू पाको बारा मासा। बेडू नाम का एक फल है जो पूरा साल पकता है। जो की गलत है बाढ़ा है (साल का सबसे बड़ा महीना जेठ) ना की बारा है।

Bedu Pako Uttarakhandi Song

Garhwali Shooting : हर्षिल की ख़ूबसूरत वादियों में चल रही है इन गढ़वाली गीतों की शूटिंग,पढ़ें ख़बर

यह गीत बहुत बार पारम्परिक कार्यकर्मो में सुनने को मिलता है। अभी हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति इंडिया आये थे तो उनकी पत्नी के स्वागत में इस गीत की धुन सुनने को मिली। इसके अलावा 2016 में यू.ऐस.ऐ में लाइव कॉन्सर्ट के दौरान वहां के लोगों ने गीत को गाया। जो की यूट्यूब में बहुत वायरल हुआ वो वीडियो। यह एक मात्र ऐसा गीत है जिसको हज़ारों लोगों ने अपनी अपनी आवाज़ में इस गीत को गाया। उत्तराखडं के कल्चर, संस्कृति और खूबसूरती को दर्शाता है यह गीत बेडू पाको बाढ़ा मासा।

AKASH KU TARA : लाइफ टाइम लव स्टोरी को दर्शाता है किशन महिपाल का यह गीत, पढ़ें रिपोर्ट

Facebook Comments