माँ भगवती के नौ रूपों से सजा सुन्दर गढ़वाली जागर शैली गीत “नौ नारैणी ” , आप भी देखें

0
1294

Nau Naraini : माँ भगवती के नौ रूपों से सजा सुन्दर गढ़वाली जागर शैली गीत “नौ नारैणी ” , आप भी देखें

हालही में यूट्यूब में नवरात्री के शुभअवसर पर माँ भगवती के नौ रूपों से सजा एक सुंदर सा गढ़वाली जागर “नौ नारैणी ” रिलीज़ हुआ है। यह गीत जागर शैली में गाया गया है जिसे उत्तराखंड में उपस्थित माता के सिद्धपीठ मन्दिरों से सजाया गया है।

Nau Naraini

किशोर रौतेला ने इस जागर को गाया है जिसके लिरिक्स गजेंद्र रमोला ने लिखे हैं। इस जागर में मां भगवती के नौ रूपों का वर्णन किया गया है। इन नौ देवियों में पहली शैलपुत्री इसका – अर्थ पहाड़ों की पुत्री ,दूसरी ब्रह्मचारिणी इसका अर्थ – ब्रह्मचारिणी , तीसरी चंद्रघंटा इसका अर्थ – चाँद की तरह चमकने वाली ,चौथी कुष्माण्डा इसका अर्थ- पूरा जगत उनके पैर में है,पांचवी स्कंदमाता इसका अर्थ – कार्तिक स्वामी की माता ,छटवीं कात्यायनी इसका अर्थ – कात्यायन आश्रम में जन्मी ,सातवीं कालरात्रि इसका अर्थ – काल का नाश करने वाली ,आठवीं महागौरी इसका अर्थ – सफ़ेद रंग वाली मां और नवीं सिद्धिदात्री इसका अर्थ सर्व सिद्धि देने वाली।

Nau Naraini

आपको बता दें की नवरात्रि एक हिंदू पर्व है। नवरात्रि एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ होता है ‘नौ रातें’ ,इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान शक्ति /देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है तथा दसवां दिन दशहरा के नाम से प्रसिद्द है। नवरात्रि वर्ष में चार बार आती है। पौष ,चैत्र ,आषाढ़ ,अश्विन प्रतिपदा से नवमी तक मनाया जाता है। नवरात्रि नौ रातों में तीन देवियों – महालक्ष्मी ,महासरस्वती या सरस्वती और दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा होती है जिन्हें नवदुर्गा कहते है। दुर्गा का मतलब जीवन के दुःख को हटाने वाली होता है। नवरात्रि एक महत्वपूर्ण प्रमुख त्यौहार है जिसे पूरे भारत में उत्साह के साथ मनाया जाता है।

Nau Naraini

नवरात्रि के अवसर पर रिलीज इस जागर गीत का निर्देशन रवि ममगाई ने किया है जिसकी सिनेमेटोग्राफी भी उन्होंने ही की है। इस गीत में संगीत शैलेन्द्र शैलू ने दिया है तथा इसे विक्की जुयाल ने रिकॉर्ड किया है और इस गीत को मनमोहक बनाने का पूरा प्रयास किया गया है। जिसमे अभिनय तनिष्का ममगांई और अनुष्का रौतेला ने किया है। आप भी माँ भगवती के इस गीत को यहाँ सुन सकते हैं।

Facebook Comments