Basu Chatterjee: फिल्म निर्देशक बासु दा का हुआ निधन, शोक में डूबा बॉलीवुड

0
377
Basu Chatterjee Passes Away
file photo

जहां एक तरफ कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है वहीं फिल्म इंडस्ट्री को भी एक के बाद एक कई झटके लग रहे हैं। इरफ़ान ख़ान, ऋषि कपूर, वाजिद ख़ान के बाद अब बॉलीवुड के जाने-माने फिल्म निर्देशक और लेखक बासु चटर्जी(Basu Chatterjee) का 90 साल की उम्र में आज सुबह 8.30 बजे निधन हो गया है. बासु चटर्जी लम्बे समय से बीमार चल रहे थे और उन्हें पहले से ही डायबीटीज व हाई ब्लड प्रेशर संबंधी बीमारियां थी.

Basu Chatterjee Passes Away

यह भी पढ़े: Krish Kapoor Death: कास्टिंग डायरेक्टर कृष कपूर का हुआ निधन

फिल्ममेकर अशोक पंडित ने मीडिया को बासु चटर्जी(Basu Chatterjee) के निधन की जानकारी देते हुए बताया कि उम्र संबंधी बीमारियों के चलते बासु दा का निधन हुआ है आपको बता दें, आज दोपहर 2.00 बजे सांताक्रूज के शवदाह गृह में बासु चटर्जी(Basu Chatterjee) की अंतिम संस्कार किया गया.नेता से लेकर अभिनेता तक सभी को बासु चटर्जी के निधन का गहरा झटका लगा है। सभी अपनी श्रद्धाजंलि और सदभावनाएं व्यक्त कर रहे हैं।

यह भी पढ़े: Wajid Khan Death: मशहूर संगीतकार वाजिद खान का कोरोना से निधन

बासु चटर्जी (Basu Chatterjee) के निधन पर अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘बासु चटर्जी के निधन पर प्रार्थना और संवेदना। उनकी फिल्मों में मध्यवर्गीय भारत की झलक देखने को मिलती थी. उनके साथ ‘मंजिल’ फिल्म की थी. आज के मौजूदा माहौल में अकसर याद आता है रिम झिम गिरे सावन…’

इसी के साथ बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी(Mamta Banerjee)ने भी सोशल मीडिया के जरिए बासु चटर्जी को श्रद्धाजंलि देते हुए लिखा, ‘ महान फिल्म निर्देशक और पटकथा लेखक बासु चटर्जी के निधन का दुख है। उन्होंने हिंदी सिनेमा को ‘छोटे सी बात’, ‘चितचोर’, ‘रजनीगंधा’, ‘ब्योमकेश बख्शी’, ‘रजनी’ जैसे कई अच्छी कृतियां दीं।

बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता अनिल कपूर(Anil Kapoor) ने भी बासु चटर्जी(Basu Chatterjee) के निधन पर ट्वीट करते हुए लिखा, एक निर्देशक जो हमेशा अपने समय से आगे था .. बसु चटर्जी वास्तव में याद किया जाएगा। वह एक सहज प्रतिभा और अद्भुत इंसान थे।

आपको बता दें, 70 व 80 के दशक में हिंदी सिनेमा में बासु दा ने चित्तचोर, रजनी, बातों बातों में, उस पार, छोटी सी बात, खट्टा-मीठा, पिया का घर, चक्रव्यूह, शौकीन, रुका हुआ फैसला, जीना यहां, प्रियतमा, स्वामी, अपने पराये, एक रुका हुआ फैसला जैसी कई बड़ी फिल्मों का निर्देशन किया और बॉलीवुड में अपनी एक अलग पहचान बनाई। बासु दा(Basu Chatterjee) ने 1969 में अपनी फिल्म सारा आकाश के जरिए बॉलीवुड में बतौर निर्देशक डेब्यू किया. बासु दा ने दूरदर्शन के लोकप्रिय सीरियल्स ब्योमकेश बख्शी, रजनीगंधा का भी निर्देशन किया, जिन्हें उनकी बेहतरीन फिल्मों की तरह आज भी याद किया जाता है.

Facebook Comments