Adnan Sami ने किया Sonu का सपोर्ट, म्यूजिक माफिया को बनाया निशाना

1
Source: Instagram Adnan Sami, Sonu Nigam

सुशांत सिंह राजपूत(Sushant Singh Rajput) के सुसाइड के बाद बॉलीवुड में नेपोटिज़्म और राजनीति की चर्चाएं लगातार सुनने व देखने को मिल रही है। सोनू (Sonu Nigam) ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट करके आगाह किया था कि म्यूज़िक इंडस्ट्री में भी ऐसे माफ़िया हैं, जो उभरते गायकों को आगे नहीं आने देते। जिसके बाद म्यूजिक इंडस्ट्री में भी तरह-तरह की बातें होने लगी. अब सिंगर अदनान सामी (Adnan Sami) ने इस मुद्दे को आगे बढ़ाते हुए म्यूज़िक इंडस्ट्री में होने वाली लोगों की मनमानी पर हमला बोला है।

Adnan Sami ने किया Sonu का सपोर्ट, म्यूजिक माफिया को बनाया निशाना
Source: Instagram Adnan Sami

यह भी पढ़े: Sonu Nigam को Bhushan Kumar की पत्नी Divya Khosla Kumar ने दिया तगड़ा जवाब

दरअसल अदनान (Adnan Sami) ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक बड़ी सी पोस्ट लिखी, अदनान ने लिखा- ”भारतीय फ़िल्म और संगीत इंडस्ट्री को एक गंभीर और बड़े बदलाव की ज़रूरत है। ख़ासकर, संगीत, नये गायक, दिग्गज गायक, म्यूज़िक कंपोज़र और म्यूज़िक प्रोड्यूसर के संदर्भ में, जो आख़िरी छोर तक उत्पीड़ित कर रहे हैं। इनकी बात मानो या फिर बाहर हो जाओ। रचनात्मकता को ऐसे लोग नियंत्रित कर रहे हैं, जिन्हें इसकी समझ ही नहीं है और वो लोग भगवान बने हुए हैं?”

यह भी पढ़े: Bollywood Star Kids ने निकाला Troll होने से बचने का तरीका।

साथ ही अदनान(Adnan Sami) संगीत को रीमिक्स और रीमेक की सीमाओं में बांधने पर दुःख जताते हुए आगे लिखते हैं- ”हमारा 130 करोड़ लोगों का देश हैं, लेकिन सुनने को मिलता क्या है, रीमेक और रीमिक्स? भगवान के लिए, इसको बंद कीजिए और काबिल और बेहतरीन कलाकारों को सांस लेने दीजिए और उन्हें संगीत और सिनेमा में रचनात्मक शांति देने दीजिए।”

यह भी पढ़े: Sushant Singh Rajput के फैंस ने बॉलीवुड के तीनों खान्स को किया Boycott

अदनान (Adnan Sami) आगे सवाल करते हैं कि क्या मूवी और म्यूज़िक माफ़िया, जो स्वयं भगवान बने हुए हैं, उन्होंने इतिहास से कुछ नही सीखा है कि आप कला को नियंत्रित नहीं कर सकते। बहुत हुआ। आगे बढ़िए। बदलाव आ रहा है और यह आपके दरवाज़े पर खड़ा है। आप तैयार हैं या नहीं, लेकिन यह आकर ही रहेगा। ख़ुद को बांध लीजिए। जैसा कि अब्राहम लिंकन ने कहा- आप कुछ वक़्त तक कुछ लोगों को बेवकूफ़ बना सकते हैं, लेकिन हमेशा सभी लोगों को बेवकूफ़ नहीं बना सकते।

Exit mobile version