बॉलीवुड अभिनेता हेमंत पांडेय के अनुसार CAA का विरोध अनुचित, पढ़ें रिपोर्ट

0
847

Hemant Pandey

बॉलीवुड अभिनेता हेमंत पांडेय के अनुसार CAA का विरोध अनुचित,पढ़ें रिपोर्ट

पांडेजी के नाम से मशहूर बॉलीवुड अभिनेता हेमंत पांडे ने देशभर में हो रहे नागरिकता संशोधन ऐक्ट (सीएए) के विरोध और इसे लेकर हो रही हिंसा को अनुचित बताया है। हेमंत ने लोगों से सीएए के पक्ष में आगे आने का आह्वान किया है। उन्होंने बिल को देशहित में बताते हुए अराजक तत्वों और भड़काने वालों से सावधान रहने की नसीहत भी दी है।

देहरादून में आयोजिय किया गया ‘साहित्य महाकुंभ’,पढ़ें रिपोर्ट

पांडे ने कहा कि देश की तमाम सरकारी संपत्ति हम सबकी ओर से दिए गए टैक्स से जुटती है। उन्होंने बॉलीवुड के उन लोगों को भी आड़े हाथों लिया जो सीएए का विरोध कर रहे हैं। उन्होंने ऐसे लोगों से अपील की है कि बजाय लोगों को गुमराह करने के देश की रक्षा और सुरक्षा के लिए काम करें। पांडे ने कहा कि किसी के बहकावे में आकर मूर्खता करने का नहीं वरन यह सरकार के पक्ष में खड़े होने का समय है। आज जरूरत धैर्य और संयम की है। उन्होंने उन तमाम समझदार लोगों से अपील की है कि वे आगे आएं और गुमराह हो रहे लोगों को सही राह दिखाएं।

Hemant Pandey

फिल्म लेखक ने पलायन पर बनाई एक मनमोहक कविता ,जानें क्या है इसमें ख़ास

पांडेजी ने कहा कि करोड़ों भारतीयों के मत से बनी सरकार ने संसद में एक बिल पारित किया है। जिसे राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद कानून का रूप मिला है, उसका विरोध करना किसी तरह से उचित नहीं कहा जा सकता है। अभिनेता पांडे ने कहा कि करोड़ों भारतीयों ने अपने मत के बाद केंद्र में सरकार बनाई है। बाकायदा संसद के दोनों सदनों से यह बिल पास हुआ है। यह नि:संदेह देशहित के लिए है। संसद में जब केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह कह रहे हैं कि इससे किसी भी भारतीय नागरिक को नुकसान नहीं पहुंचने वाला है और यह किसी भी संप्रदाय विशेष के खिलाफ नहीं है।

सलमान खान की फिल्म ‘दबंग 3’ ने की बॉक्स ऑफिस पर शानदार शुरुआत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस बात का भरोसा दे रहे हैं। ऐसे में लोगों को उनकी बात सुनते हुए इस कानून का समर्थन करना चाहिए। पांडे ने कहा कि धर्म और जाति की राजनीति करने वाले लोग सीएए को बिना सोचे-समझे स्वार्थसिद्धि के लिए लोगों को भड़काने में लगे हैं। ऐसे तत्वों के बहकावे में आकर लोग सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचा रहे हैं, यह सरासर अनुचित है।

Facebook Comments