पहाड़ों की मिसाल बनी रेखा पांडे, पहली महिला टैक्सी ड्राइवर बन पेश की मिसाल

0

अगर हमारे मन में कुछ बड़ा और अलग करने का जज्बा हो तो फिर उसे पूरा करने में हमें कोई भी नहीं रोक सकता, उत्तराखंड की रेखा पांडे के साथ कुछ ऐसा ही देखने को मिला जहां उन्होंने अपने परिवार की बुरी हालत देख घबराने की वजाय मिसाल पेश कर देने का कार्य किया, जिसके चलते आज वो सुर्खियों में बनी हुई हैं.

यह भी पढ़ें: मौसम विभाग ने जारी किया नया अपडेट,बारिश और ओलावृष्टि की संभावना, अलर्ट जारी

महिलाओं के सशक्तिकरण की बात हर प्लेटफार्म पर हो रही है, लेकिन असल में देखा जाए तो महिलाएं कभी कमजोर नहीं रही हैं, हर युग में इनके महत्व को परखा गया है, कभी भी महिलाएं पुरुषों से पीछे नहीं रही हैं, ऐसा ही एक उदाहरण सामने आया उत्तराखंड से जहां अल्मोड़ा जिले के ताड़ीखेत की रहने वाली रेखा पांडे ने वो किया जिसके चलते आज हर कोई उन पर गर्व महसूस कर रहा है.

यह भी पढ़ें: त्रियुगीनारायण की प्रधान प्रियंका ने ब्लॉग्गिंग से बनाया नाम,लाखों में आते हैं व्यूज।

दरअसल, रेखा पांडे अल्मोड़ा जिले के ताड़ीखेत की रहने वाली हैं, वह पिछले एक महिने से टैक्सी चलाने का काम कर रही हैं, आपको बता दें कि रानीखेत से हल्द्वानी तकरीबन 90 किमी की डेली सर्विस देती है, वहीं, दिल्ली, मुम्बई और चेन्नई जैसे महानगरों में ये आम बात हो सकती है, लेकिन उत्तराखण्ड जैसे छोटे और पहाड़ी राज्य के लिए ये वाकई बड़ी मिशाल है.

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर :तारक महता शो में उत्तराखंड के नीरज को मिला ये रोल,फैंस भेज रहे बधाई।

वहीं आपको बता दें रेखा के पति मुकेश चंद्र पांडे फौज से रिटायर्ड हैं, जिन्हें कुछ महीने पहले पीलिया हो गया और उन्होंने बिस्तर पकड़ लिया ऐसे में परिवार की आजीविका चलाने की जिम्मेदारी रेखा के कंधों पर आ गई, ऐसी परिस्थिति में रेखा ने हार ना मानते हुए टैक्सी चलाने का निर्णय लिया.

उत्तराखंड फिल्म एवं संगीत जगत की सभी ख़बरों को विस्तार से देखने के लिए हिलीवुड न्यूज़ को यूट्यूब पर सब्सक्राइब करें। 

Exit mobile version