उत्तराखंड में नई फिल्म नीति का ड्राफ्ट तैयार, 30 जुलाई तक आम जनता के मांगे सुझाव।

0
174
उत्तराखंड में नई फिल्म नीति का ड्राफ्ट तैयार, 30 जुलाई तक आम जनता के मांगे सुझाव।

देवभूमि में सालों बाद अब उत्तराखंड की फिल्मों को लेकर यहां के लोग काफी जागरुक हो गए है, एक समय ऐसा था जब उत्तराखंड में  ही इन फिल्मों की पुछ नहीं थी, लोग अपनी बोली भाषा में बनी फिल्मों को देखने के लिए समय निकाला जरूरी नहीं समझते थे, लेकिन काफी समय से उत्तराखंड के लोगों की इस विचारधारा पर बदलाव देखने को मिल रहा है, हाल ही में यहां कई गढ़वाली फिल्मे रिलीज हुई, जिन्हें देखने सिनेमाघरों में पहुंची भीड़ ने सालों पुराने रिकॉर्ड तोड़े, जो कि उत्तराखंड  फिल्म इंडस्ट्री के लिए किसी सपने से कम नही था, और यह खुशी अभी खत्म भी नहीं हुई थी कि राज्य सरकार द्वारा मिले सहयोग ने इंडस्ट्री में मौजूद हर किसी की खुशी दुगनी कर दी.

यह भी पढ़ें: फिल्म सिटी बनाने के फैसले को लेकर प्रदेश के फिल्मकारों ने की सीएम से मुलाकात की मांग।

उत्तराखंड फिल्म इंडस्ट्री को लेकर अब राज्य सरकार ने भी अपने हाथ आगे बढ़ा दिए हैं, हाल ही में देहरादून स्थित सचिवालय में उत्तराखंड में नई फिल्म नीति को लेकर बैठक ली गई, यह बैठक विशेष प्रमुख सचिव अभिनव कुमार ने रखी थी जिसमें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार की भांति एक फिल्म समारोह करके अभिनेता, अभिनेत्री, फिल्म निर्माता एवं निर्देशक को पुरस्कार देने के लिए वार्षिक समारोह का आयोजन किए जाने की बात कहीं, साथ ही बैठक में यह निर्देश दिए गए कि स्थानीय बोली, भाषा पर आधरित फिल्म निर्माण के लिए अंग्रेजी, हिंदी भाषा पर आधरित फिल्म निर्माण को महत्वता दी जाए.

यह भी पढ़ें: गढ़वाली फीचर फिल्म थोकदार देहरादून में रिलीज, सिनेमाघर में उमड़ी भीड़।

उत्तराखंड को फिल्म शूटिंग का पसंदीदा डेस्टिनेशन बनाने के लिए राज्य में एक फिल्म सिटी बनाने का उत्तराखंड सरकार ने फैसला लिया, जिसके बाद फैसले को लेकर अपना पक्ष रखने के लिए उत्तराखँड(Uttarakhand)के सभी निर्माता, निर्देशक, व कलाकारों ने सीएम से बातचीत करने की मांग की, इस मामले को लेकर 19 जुलाइ को सीएम पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में फिल्म उद्योग से जुड़े प्रदेश के कलाकारों से मुलाकात की, फिल्म उद्योग से जुड़े कलाकारों ने फिल्म सिटी की स्थापना देहरादून शहर के 30 से 40 कि.मी. के दायरे में किए जाने एवं फिल्म निर्माण से संबंधित गतिविधियों के लिए सब्सिडी बढ़ाने का अनुरोध किया है, जिसके जवाब में धामी ने प्रदेश सरकार द्वारा इस पर उचित निर्णय लेने की बात कही.

यह भी पढ़ें: देहरादून में फिल्म खैरी का दिन देखने को उमड़ी भीड़, पहले ही दिन हुआ हाउसफुल।

उत्तराखंड सरकार द्वरा त्वरित कार्य करते हुए उत्तराखंड फिल्म विकास परिषद ने फिल्म नीति 2022 का ड्राफ्ट तैयार किया, फिल्म का ड्राफ्ट दस्तावेज वेबसाइट पर अपलोड किया, इसी के साथ उत्तराखंड फिल्म विकास परिषद के नोडल KS CHAUHAN  ने बताया कि प्रस्तावित फिल्म नीति 2022 के संबंध में कोई भी व्यक्ति अपने सुझाव दे सकते हैं, वहीं आपको बता दें कि आप अपना सुझाव 30 जुलाई 2022 तक विभागीय ई- मेल आई डी ufdc.2015@gmail.com पर प्रेषित कर सकते हैं.

उत्तराखंड फिल्म एवं संगीत जगत की सभी ख़बरों को विस्तार से देखने के लिए हिलीवुड न्यूज़ को यूट्यूब पर सब्सक्राइब करें।