गढ़वाल विवि दीक्षांत समारोह में गढ़रत्न नरेंद्र सिंह नेगी हुए डॉक्टरेट से सम्मानित।

0
279
गढ़वाल विवि दीक्षांत समारोह में गढ़रत्न नरेंद्र सिंह नेगी हुए डॉक्टरेट से सम्मानित।

एचएनबी गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय में बुधवार को नौवां दीक्षांत समारोह संपन्न हो चुका है. समारोह में जनरल बिपिन रावत बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए, वहीं केंद्रीय शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी ऑनलाइन मौजूद रहे,समारोह में लोकगायक नरेंद्र सिंह नेगी को डॉक्टरेट उपाधि से सम्मानित किया गया.

यह भी पढे़ं: उत्तराखंड में मौसम ने ली करवट, अगले तीन दिन बारिश-बर्फबारी की संभावना।

आज बुधवार को एचएनबी गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय में नौवां दीक्षांत समारोह का समापन हो चुका है, दीक्षा समारोह में रक्षा प्रमुख (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए, वहीं, केंद्रीय शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी मुख्य अतिथि ऑनलाइन जुड़े, इसके साथ ही दीक्षांत समारोह में उत्तराखंड के गढ़रत्न प्रसिद्ध लोकगायक नरेंद्र सिंह नेगी जी को लोककला एवं संगीत में अतुलनीय योगदान के लिए डॉक्टरेट उपाधि से सम्मानित किया गया. उन्होंने कहा कि गढ़वाल विवि द्वारा उन्हें दिए जाने वाला ये सम्मान मातृभूमि उत्तराखंड और इसके साहित्यकारों, लोकगायकों एवं कलाकारों का सम्मान है. साथ ही इस मौके पर उन्होंने विश्वविद्यालय के माध्यम से लोकभाषा और लोकसंस्कृति को बढ़ावा देने की भी अपील की.

यह भी पढ़ें: धनराज शौर्य की बेटी अदिति मचाएगी धमाल, पोस्टर हुआ रिलीज।

समारोह के दौरान जनरल बिपिन रावत ने पीजी में करीब 60 छात्र-छात्राओं को गोल्ड मेडल दिए, जिसमें से 51 छात्राएं शामिल हैं, इसमें विवि से सम्बद्ध 118 कॉलेज और विवि के तीनों परिसरों के टॉपर शामिल हैं. समारोह में पीएचडी और स्नातकोत्तर के 196 छात्र-छात्राओं को उपाधि दी गई. इसके अलावा सीडीएस रावत ने कहा कि गढ़वाल विवि के छात्र-छात्राएं नौकरी ढूंढने वाले न बने, बल्कि नौकरी देने वाले बनें, उन्होंने आगे कहा कि चीन-नेपाल सीमा से सटे होने की वजह से उत्तराखंड में जिम्मेदारी बढ़ जाती है. विवि के कुछ कोर्स हैं, जिनकी सेना को जरूरत है, गढ़वाल विवि एक दिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर परचम लहराएगा. उन्होंने छात्रों को संदेश दिया कि देश पहले हैं, वहीं, केंद्रीय शिक्षामंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि छात्र मेकिंग इंडिया का संदेश देंगे.

यह भी पढ़ें: गढ़वाली गीत ‘ब्यो की रस्याण’ बन रहा है दर्शकों की पसंद, जानें क्या है खास।

सीडीएम रावत ने कहा कि सरकार एमएसएमई पर अधिक ध्यान दे रही है, पीएम मोदी औऱ मंत्रालय युवाओं को प्रोत्साहित करने के लिए कई तरह के स्वरोजगार कार्यक्रम चला रहे हैं, कई तरह के स्टार्ट अप युवाओं के लिए चल रहे हैं. गढ़वाल विवि युवा छात्र-छात्राओं को सही दिशा दे रहा है, युवा इस सीख पर कैसे खरे उतरते हैं ये उन पर निर्भर करता है,साथ ही सीमावर्ती क्षेत्रों में पलायन रोकने के लिए हेल्थ, एजुकेशन, सड़क आदि की व्यवस्था सीमा से सटे गांवों तक पहुंचानी भी जरूरी है.

यह भी पढे़ं: ‘तेरी मुखड़ी अनु’ गीत में संजय और ऋचा की जोड़ी ने बिखेरे रंग, देखें वीडियो।

हिलीवुड इंडस्ट्री से जुड़ी छोटी-बड़ी खबरों को जानने के लिए देखिए।