ब्राह्मण समाज के असभ्य व्यवहार से वायरल गीत ‘बामणी का पंडा जी’ के गायक एवं गायिका ने मांगी माफी।

0
273
ब्राह्मण समाज के असभ्य व्यवहार से वायरल गीत 'बामणी का पंडा जी' के गायक एवं गायिका ने मांगी माफी।

उत्तराखंड संगीत जगत में ऐसे कई गीत हैं जो ब्राह्मणों पर आधारित हैं. जिनमें चल मेरा थौला,मेरी बामणी, तू मेरी बामणी एवं अन्य हैं. इस गीतों पर किसी भी प्रकार से कोई प्रतिबंधन या विवाद नहीं किया गया. लेकिन कमल धनाई का बामणी का पंडा जी गीत आने पर सभी ब्राह्मण समाज ने बखेड़ा खड़ा कर दिया है. साथ ही हार्दिक फिल्म्स कंपनी ने गायकों के कहने पर इस गीत को यूट्यूब पर हटा दिया है.

यह भी पढ़ें: तेरू बुबा बदलिगे फेम कमल धनाई के खिलाफ मिली FIR दर्ज कराने की धमकी,पढ़ें पूरी रिपोर्ट।

उत्तराखण्ड की युवा सिंगर अनिशा रांगड़ ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो गीत बामणी का पंडा जी को लेकर ब्राह्मण जाति के लोगों के दिलों को ठेस पहुंची है, तो उन्होंने माफी मांगी है. अनिशा ने अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट साझा की है. अनिशा रांगड़ ने उस पोस्ट में लिखा कि मैं अनिशा रांगड़ आप सभी लोगों से दिल से माफ़ी मांगती हूँ. कि मैंने ऐसा अभद्र गीत गाया जिससे समाज के सबसे ऊंचे वर्ग की ब्राह्मण जाति का दिल दुःखा. मेरी ऐसी कोई गलत भावना नही थी ब्राह्मण वर्ग के प्रति, न ही इस गीत के शब्द मेरे द्वारा लिखे हुए हैं. मेरे घर में कुछ घटना घटने के कारण मैने गीत के शब्दों में भी ध्यान नी दिया और जल्दी बाजी मै गाकर निकल गई. यही मेरी ग़लती है. अपनी ये गलती में मानती हूं. आप सभी ने मुझे हमेशा सराहा है , मेरे काम को हमेशा प्रोत्साहन दिया है. मैं अनिशा रांगड़ , आगे से इन सभी बातों का ध्यान रखते हुए ही अपनी प्रस्तुति दूंगी . मुझे अपनी बहन ,अपनी बेटी, समझते हुए माफ़ किजियेगा. सभी ब्राह्मण वर्ग के लोगों से, दर्शकों से ,श्रोताओं से मेरा अनुरोध है कि मेरी इस त्रुटि को माफ़ कर दीजिये और मुझे अपना आशीर्वाद दीजिये. आप दर्शकों की इस मामले में क्या राय है, कमेंट बॉक्स में अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें.

यह भी पढे़ं:कमल धनाई का नया डीजे सॉन्ग बामणी का पंडा जी रिलीज, तेरू बुबा बदलिगे गीत से मिला था फेम।

आपको बता दें कि #बामणी का पंडा जी गीत को लेकर उत्तराखंड संगीत जगत में हड़कंप मचा हुआ है. ब्राह्मणों का रोष जारी है. यही नहीं केस तक दर्ज करवाने की धमकी दे डाली. हालांकि गायक कमल धनाई ने भी ब्राह्मण जाति के लोगों से औऱ जिन्होंने उनके इस सॉन्ग पर नाराजगी जताई है. उन सभी से माफी मांगी है. उन्होंने कहा कि माफी चाहूंगा सभी ब्राह्मण गुरूजी से मेरा मकसद किसी को ठेस पहुंचाना नहीं था अब पुर्ण रुप से गीत हटा दिया गया है. साथ ही उन्होंने अपने फेसबुक पेज से लाइव आकर सभी के साथ अपना दुख व्यक्त किया,और क्षमा याचना की. 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: सीएम रावत ने केदारखंड झांकी में शामिल कलाकारों को प्रशस्ति पत्र देकर किया सम्मानित।

हालांकि कमल धनाई उत्तराखंड संगीत जगत के उभरते हुए गायक हैं,हाल ही में उनके कई गीत आए जिनसे उन्हें समाज औऱ इडस्ट्री में पहचान दिलाई है. वहीं अब कुछ दिन पहले ही उनका यह डीजे गीत बामणी का पंडा जी आया. जिसे दर्शकों ने काफी पंसज भी किया. और चंद घटों के अंतराल में ही अच्छे व्यूज बटोर लिए थे. लेकिन ब्राह्मण समाज ने अपत्ति जताते हुए गायक,गायिका के लिए सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर काफी असभ्य शब्दों का प्रयोग किया. साथ ही वीडियो गीत को यूट्यूब से हटाने की बात कही. इसके अलावा उनके साथ अभद्र व्यवहार किया जा रहा है. यह उत्तराखंड समाज के लिए ठीक नहीं है.

Facebook Comments