Breaking News
उत्तराखंडी लघु फिल्म मंगतू लाटू यूट्यूब पर रिलीज, नवीन सेमवाल ने लाटू किरदार की बखूबी निभाई भूमिका।

उत्तराखंडी लघु फिल्म मंगतू लाटू यूट्यूब पर रिलीज, नवीन सेमवाल ने लाटू किरदार की बखूबी निभाई भूमिका।

हर व्यक्ति को अपने आस-पास मौजूद मानसिक रूप से कमजोर लोग होते हैं. उनके साथ सामान्य व्यक्तियों की तरह व्यवहार करना चाहिए. उनको भी जीने का अधिकार है. साथ ही लघु फिल्म के माध्यम से (चाइनीज वस्तुओं का बहिष्कार करें) दिखाने का प्रयास किया गया है. लघु फिल्म मंगतू लाटू यूट्यूब पर रिलीज हो गई है. दर्शकों की फिल्म और कलाकारों के प्रति बेहतरीन प्रतिक्रिया मिल रही है.

यह भी पढ़ें:कोरोना जागरूकता को लेकर लघु फिल्म प्रतियोगिता में टीम मंगतू की फिल्म हो रही तेजी से वायरल

उत्तराखंड फिल्म इडस्ट्री में लघु हास्य फिल्म का बोलबाला है. गढ़वाली भाषा को बढ़ावा देने के लिए कई फिल्में औऱ लघु फिल्मों का निर्माण किया जाता रहा है. मंगतू लाटू लघु फिल्म में मनोरंजन के साथ-साथ वर्तमान स्थिति यानि चाइनीज वस्तुओं का बहिष्कार करने के लिए प्रोत्साहित करती है. फिल्म के मुख्य कलाकार की भूमिका में उत्तराखंड के चर्चित अभिनेता नवीन सेमवाल, बिपिन सेमवाल, त्रिभुवन चौहान,कंचन भंडारी औऱ दीपक दीपू ईलिया नजर आए. जिन्होंने बेहतरीन अभिनय से दर्शकों का दिल जीत लिया है. साथ ही सभी कलाकारों ने डायलॉग डिलीवरी बखूबी की है.

यह भी पढे़ं:पलायन एवं असहाय माता पिता की कहानी दर्शाती लघु फिल्म ‘सौंजडया कू आखिरी साथ’ यूट्यूब पर उपलब्ध !! देखें जरूर !!

नवीन सेमवाल ने अपने किरदार को बखूबी निभाया है. उन्होंने एक लाटे यानि जो व्यक्ति मानसिक रूप से कमजोर होता है का किरदार अदा किया है. नवीन हर किरदार में ढल जाते हैं. सामान्य व्यक्ति का रोल निभाना जितना आसान होता है, उतना ही असमान्य व्यक्ति की भूमिका निभाना मुश्किल होता है. वहीं कहानी में विपिन एक नया टीवी लेकर आता है, लाटू उससे पूछता है कि यह क्या है. जिस पर विपिन कहता है यह चाइनीज टीवी है. इतना सुनने पर लाटू गुस्से में टीवी को उठाकर जमीन पर फेंक देता है. और टीवी टूट जाता है. इसका अर्थ है हर किसी व्यक्ति में देश के प्रति प्रेम की भावना होनी चाहिए. इस फिल्म के माध्यम से असामान्य व्यक्तियों में देश प्रेम की भावना से परिपूर्ण होता है दर्शाया गया है. विपिन फिल्म में लाटू के दोस्त की भूमिका में नजर आए.

फिल्म में दीपक दीपू, त्रिभुवन चौहान औऱ कंचन भंडारी पुरातात्विक शोधार्थी का किरदार अदा किया है. सभी ने बड़ी खबसूरती से उत्तराखंड के पारंपरिक स्थलों में से नवग्रह मंदिर की विशेषताओं को उकेरा है. साथ ही यह फिल्म अपनी गढ़वाली भाषा में बनाई गई. इस फिल्म की स्क्रिप्ट राइटर औऱ निर्माता उपासना सेमवाल हैं.  इसका फिल्मांकन हिमी चौहान औऱ दिग्विजय चौहान ने उत्तराखंड के गुप्तकाशी में किया गया है.  साथ ही संपादन का काम हिमी चौहान ने किया है.

यह भी पढ़ें: लाटी काली नाटी लांदी रे वीडियो गीत की शूटिंग हुई पूरी, संजय भंडारी और रूपा गुसांई की जोड़ी आएगी नजर।

इस तरह की फिल्म निर्माण का उद्देश्य मात्र मनोरंजन ही नहीं है बल्कि दर्शक भी फिल्मकार की कहानी के मूल को समझें और असामान्य लोगों से अच्छा व्यवहार करें एवं केवल अपने देश की वस्तुओं को उपयोग में लाकर चाइनीज वस्तुओं का बहिष्कार करें.

देखिए मंगतू लाटू (भाग 1)उत्तराखण्डी लघुफिल्म:

सभी ख़बरों के लिए हिलीवुड न्यूज़ यूट्यूब चैनल पर जुड़िए एवं खास बातचीत नवीन सेमवाल के साथ।

Facebook Comments

About Hillywood Desk

Check Also

पम्मी नवल का गीत जुग जुग बतला रहा अमर प्रेम की गाथा,आप भी देखें।

पम्मी नवल का गीत जुग जुग बतला रहा अमर प्रेम की गाथा,आप भी देखें।

उत्तराखंड संगीत जगत में ऐसे कई गीत हैं जो पुरानी गाथाओं पर आधारित हैं. कहानियों …

%d bloggers like this: