इंदर आर्य ने पहली बार गढ़वाली गीत काजल कु टिक्कू के जरिए बिखेरा मधुर आवाज का जादू।

0
395
इंदर आर्य ने पहली बार गढ़वाली गीत काजल कु टिक्कू के जरिए बिखेरा मधुर आवाज का जादू।

उत्तराखंड संगीत जगत में आए दिन नए गीतों की धूम मच रही है. हाल ही में इंदर आर्य की आवाज में रिकॉर्ड गीत काजल कु टिक्कू यूट्यूब पर रिलीज होने के बाद से दर्शकों की बढ़िया प्रतिक्रिया पा रहा है. इस गीत को ऑडियो फार्मेट में रिलीज किया है.

यह भी पढ़ें: कुमाऊंनी गीत तेरो लहंगा को इंदर आर्य ने दी आवाज, पोस्टर हुआ रिलीज

इंदर आर्य मुख्य रूप से कुमाऊंनी गीत गाते हैं, लेकिन अब गढ़वाली गीतों मे भी वह दिलचस्पी दिखा रहे हैं. हाल ही में उन्होंने पहली बार एक गढ़वाली गीत को आवाज दी है. जी हां उस गीत के बोल हैं काजल कु टिक्कू. इस गीत की रचना भागचंद्र सावन ने की है. संगीत से अशीम मंगोली ने सजाया है. अशीम ऐसे संगीतकार हैं जो अपने संगीत से किसी भी गीत में जान भर देते हैं. ऐसा संगीत जिससे किसी भी श्रोता के कदम थिरकने के लिए मजबूर हो जाते हैं.

यह भी पढे़ं: हेमा नेगी करासी के स्वरों से सजा वीडियो गीत खेला झुमेलो रिलीज,दर्शकों की मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया।

काजल कु टिक्कू गीत के निर्माता जस पंवार हैं. गीत के संपादन का काम हार्दिक फिल्म्स के बैनर तले किया गया है. गीत को दर्शकों ने खूब पंसद किया है. कमेंट बॉक्स पर दर्शकों की जबरदस्त प्रतिक्रिया मिल रही है. साथ ही पहली बार कुमाउंनी गायक इंदर आर्य ने किसी गढ़वाली गीत को आवाज दी है. जिससे दर्शक बेहद खुश हैं.  क्योंकि इंदर आर्य की गायिकी को दर्शक काफी पंसद करते हैं.

यह भी पढे़ं: आर्टिस्टिक स्केच में तैयार एवं राखी धनाई के स्वरों से सजा वीडियो गीत नन्दा की भवानी हुआ रिलीज।

यदि आपने ये गीत अभी तक नहीं सुना है तो आप इसे यूट्यूब पर सर्च कर सकते हैं.

https://www.youtube.com/watch?v=RqtRw_dX3NE

अधिक जानकारी के लिए हिलीवुड न्यूज़ के यूट्यूब चैनल पर विजिट कीजिए। 

Facebook Comments